प्रतिक्रिया | Tuesday, April 16, 2024

28/11/23 | 9:35 am

उत्तराखंड में ‘आपदा प्रबंधन पर 6वीं अंतरराष्ट्रीय कांग्रेस’ आज, पुनर्वास व पुनर्निर्माण कार्यों पर चर्चा 

''आपदा प्रबंधन पर चार दिवसीय 6वीं अंतरराष्ट्रीय कांग्रेस'' 28 नवम्बर (मंगलवार) से ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी में आयोजित हो रही है। इस कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी करेंगे। चार दिवसीय सेमिनार में कुल 70 सेशन में अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर के वक्ता अपनी बात रखेंगे। 

इस छठे विश्व आपदा प्रबंधन सम्मेलन का देहरादून में आयोजन प्राकृतिक आपदाओं से त्रस्त उत्तराखंड के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। विषम भौगोलिक परिस्थितियों के चलते भूस्खलन, बादल फटने जैसी आपदाओं से प्रभावित उत्तराखंड को विश्व के आपदा प्रभावित क्षेत्रों में कार्य कर चुके विशेषज्ञों के जरिये इस सम्मेलन से काफी लाभ मिलने की उम्मीद है। 

आपदाओं का सामना करने की दृढ़ इच्छाशक्ति
आपदाओं के दौर में जिस तरह राज्य सरकार और उत्तराखंड के लोग विषम परिस्थितियों में कठिन परिश्रम, अदम्य साहस और धैर्य से कार्य करके हालात का सामना करते आये हैं, ये विशेषताएं इस सम्मेलन की विषय वस्तु को कहीं ज्यादा उपयोगी बनाती हैं। आपदाओं का सामना करने की दृढ़ इच्छाशक्ति, आत्म विश्वास और सरकार की गंभीरता व संवेदनशीलता को आपदा प्रबंधन में कुशलता का पर्याय माना जाता है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी करेंगे उद्घाटन 
आज सुबह मुख्य अतिथि के तौर पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी इस  चार दिवसीय 6वीं अंतरराष्ट्रीय कांग्रेस'' का उद्घाटन करेंगे, जबकि 01 दिसंबर को इस कांग्रेस के राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेनि) समापन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि और सम्मानीय अतिथि, केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्री किरेन रिजिजू मौजूद रहेंगे। मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि आठ दिसम्बर से शुरू होने वाले ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 से कुछ ही दिन पहले यह महत्वपूर्ण आयोजन देश और विदेश में सेफ इन्वेस्टमेंट-रेजिलिएंट उत्तराखंड की धारणा को पुष्ट करेगा।

पुनर्वास व पुनर्निर्माण कार्यों पर होगी चर्चा 
इस समिट में जलवायु परिवर्तन और आपदा जोखिम, डिजास्टर रिस्क रिडक्शन एंड रेसिलिएंस, अर्लीवार्निंग सिस्टम एंड प्रिपेरडनेस, रिस्पॉंस, रिकवरी औरआपदा के बाद किए जाने वाले पुनर्वास व पुनर्निर्माण कार्यों पर चर्चा की जाएगी। इस सम्मेलन को उत्तराखंड को विश्व पटल पर स्थापित करने की एक बड़ी पहल के रूप में देखा जा रहा है। सम्मेलन में लद्दाख और अंडमान निकोबार के लेफ्टिनेंट गवर्नर भी शिरकत करेंगे।

विदेशी मेहमान करेंगे ऋषिकेश में गंगा आरती  
कांग्रेस में लगभग 600 डेलिगेट्स भाग लेंगे। चार दिवसीय आयोजन में शुरुआत के दो दिनों में शाम के वक्त सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित होंगे। इसके अतिरिक्त विदेशी मेहमानों को गंगा आरती हेतु ऋषिकेश भी ले जाया जाएगा।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 693442
आखरी अपडेट: 16th Apr 2024