प्रतिक्रिया | Saturday, April 13, 2024

09/11/23 | 1:48 pm

ऑपरेशन ‘नन्हे फरिश्ते’ के तहत RPF ने 601 से अधिक बच्चों को उनके परिवारों से मिलाया: रेल मंत्रालय

रेलवे सुरक्षा बल (RPF) रेलवे संपत्ति, यात्री क्षेत्रों और यात्रियों की भलाई की सुरक्षा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता में अटल है। यात्रियों को सुरक्षित, संरक्षित और आरामदायक यात्रा अनुभव प्रदान करने के लिए आरपीएफ चौबीसों घंटे काम कर रहा है। आरपीएफ भारतीय रेलवे को अपने ग्राहकों को सुरक्षित माल परिवहन सेवा प्रदान करने में मदद करता है। आरपीएफ ने निवारक सुरक्षा उपाय करके और रेलवे संपत्ति के खिलाफ अपराध होने पर उनका पता लगाने के प्रयास करके देश भर में फैली रेलवे की विशाल संपत्ति की सुरक्षा की जिम्मेदारी का बखूबी निर्वहन किया है। ऑपरेशन “नन्हे फरिश्ते”  के तहत आरपीएफ ने 601 से अधिक बच्चों को उनके परिवारों से मिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई । 

रेल मंत्रालय ने आज गरुवार को अक्टूबर 2023 के दौरान आरपीएफ की उपलब्धियों के बारे में बताया। आइये जानते है अक्टूबर माह के दौरान आरपीएफ की क्या उपलब्धियां रही।  

RPF ने 601 से अधिक बच्चों को उनके परिवारों से मिलाया 
ऑपरेशन “नन्हे फरिश्ते” (खोए हुए बच्चों को बचाना: मिशन) के तहत, आरपीएफ ने देखभाल और सुरक्षा की आवश्यकता वाले 601 से अधिक बच्चों को उनके परिवारों से मिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। ये बच्चे विभिन्न कारणों से अपने परिवारों से अलग हो गए थे और आरपीएफ ने उनकी सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करने के लिए अथक प्रयास किया।

मानव तस्करों की भयावह योजनाओं को किया विफल 
मंत्रालय के अनुसार मानव तस्करी विरोधी प्रयास ऑपरेशन एएएचटी (AAHT) ने  भारतीय रेलवे के विभिन्न पदों पर आरपीएफ की मानव तस्करी विरोधी इकाइयों ने मानव तस्करों की भयावह योजनाओं को विफल करने के लिए लगातार काम किया। अक्टूबर में आरपीएफ ने 39 लोगों को तस्करों के चंगुल से बचाया।

ऑपरेशन 'जीवन रक्षा' के तहत 262 यात्रियों की जान बचाई 
वहीं ऑपरेशन 'जीवन रक्षा' के तहत अक्टूबर के महीने में आरपीएफ की सतर्क और त्वरित कार्रवाई से 262 यात्रियों की जान बचाई गई, जो प्लेटफॉर्म और रेलवे ट्रैक पर ट्रेन से कटने के करीब पहुंच गए थे। 

यात्रियों के खिलाफ अपराध में शामिल 256 अपराधियों को गिरफ्तार किया
इसके अलावा ऑपरेशन “यात्री सुरक्षा” में अक्टूबर के महीने में आरपीएफ ने यात्रियों के खिलाफ अपराध में शामिल 256 अपराधियों को गिरफ्तार किया, और उन्हें संबंधित जीआरपी/पुलिस को सौंप दिया। यात्री सुरक्षा ऑपरेश आरपीएफ ने रेल यात्रियों के खिलाफ अपराधों को रोकने और उनका पता लगाने में पुलिस के प्रयासों में सहायता करता है। 

ऑपरेशन “नार्कोस”  के तहत 99 व्यक्तियों को गिरफ्तारी 
वहीं दूसरी ओर ऑपरेशन “नार्कोस”  के तहत अक्टूबर में नशीली दवाओं से जुड़े अपराधों का मुकाबलें में  एक सराहनीय प्रयास में आरपीएफ ने 99 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया और रु.5.99 मूल्य के नशीले पदार्थ जब्त किए। इन अपराधियों को आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए अधिकार प्राप्त एजेंसियों को सौंप दिया गया है।

आरपीएफ महिला यात्रियों की सुरक्षा को गंभीरता से लेती है
अब बात करते है महिला यात्रियों की सुरक्षा की तो बता दें कि आरपीएफ महिला यात्रियों की सुरक्षा को गंभीरता से लेती है जिसके चलते उसने “मेरी सहेली” पहल शुरू की है। अक्टूबर माह  के दौरान, 232 “मेरी सहेली” टीमों ने 13,664 ट्रेनों में भाग लिया और 423,803 महिला यात्रियों को सुरक्षा आश्वासन प्रदान किया। आरपीएफ ने महिलाओं के लिए आरक्षित कोचों में पाए गए 5,722 व्यक्तियों के खिलाफ भी कार्रवाई की।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 642802
आखरी अपडेट: 13th Apr 2024