प्रतिक्रिया | Tuesday, April 16, 2024

20/11/23 | 12:50 pm

दिल्ली की हवा में कुछ सुधार,प्रतिबन्धों में ढील के साथ आज से खुल गए अधिकांश स्कूल

दिल्ली एनसीआर में वायु गुणवत्ता में कुछ सुधार के बाद दिल्ली सरकार ने फिर से सरकारी,प्राइवेट और सरकारी सहायता प्राप्त सभी स्कूलों को खोलने का फैसला किया है। जिसमें नर्सरी से 12वीं कक्षा तक की सभी कक्षाएं फिजिकल मोड में संचालित की जाएंगी। छात्रों को माक्स पहनने के लिए प्रेरित करना उन्हें शहर के वायु प्रदूषण से खुद को बचाने के तरीकों के बारे में शिक्षित करना, आउटडोर गतिविधियों में सतर्कता बरतने ऐसे कुछ कदम हैं जिन्हें दिल्ली के स्कूल सोमवार से लागू करने की योजना बना रहीं हैं। दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने अभिभावकों और बच्चों से स्कूल आने जाने के दौरान प्रदूषण से बचने के उपायों का ख्याल रखने को कहा।

दिल्ली की हवा गुणवत्ता अभी भी खराब श्रेणी में 

दिल्ली और आसपास के शहरों में सोमवार को वायु गुणवत्ता अभी खराब श्रेणी में बनी हुई है, राजधानी में सोमवार की सुबह आठ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक 338 था,जो रविवार को 
सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR-India) के मुताबिक दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक सोमवार को सुबह 8:30 बजे 310 दर्ज किया गया। दिल्ली सरकार ने शनिवार को दिल्ली एनसीआर वायु गुणवत्ता में हुए सुधार के बाद क्रमिक प्रतिक्रिया कार्य योजना (GRAP) के चौथे चरण के तहत लगाए गए प्रतिबंधों को कम करने का आदेश जारी किया है। जीआरएपी के चौथे चरण में केवल आवश्यक सेवाओं से जुड़े वाहनों को दिल्ली में प्रवेश की अनुमति दी गई थी,जबकि बाकी सभी मध्यम और भारी मालवाहक वाहनों के प्रवेश को प्रतिबंधित कर दिया गया था।

प्रतिबंधों में अभी पूरी छूट नहीं 

सीएक्यूएम के ताजा आदेश के अनुसार, गैर-आवश्यक निर्माण कार्य, खनन, स्टोन क्रशर और डीजल जेनरेटर पर प्रतिबंध सहित जीआरएपी के चरण एक, दो और तीन के तहत अन्य सभी प्रतिबंध जारी रहेंगे। दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने रविवार को कहा कि लोगों को सतर्क रहकर प्रदूषण नियंत्रण उपायों का पालन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि बीएस-तीन पेट्रोल और बीएस-चार डीजल वाहनों पर भी प्रतिबंध अभी जारी रहेंगे। गोपाल राय ने कहा कि स्थिति में सुधार होने पर प्रतिबंधों का दोबारा आकलन करेंगे।

वायु गुणवत्ता में सुधार के लिए जागरूकता है जरूरी 

हवा की गुणवत्ता में सुधार के बाद दिल्ली में ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (जीआरएपी) – 4 के तहत प्रतिबंध हटाए जाने के एक दिन बाद, पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने रविवार को लोगों से सावधान रहने और चरण 1, 2 और 3 चरणों के नियमों का पालन करना जारी रखने का आग्रह किया है। गोपाल राय ने कहा, हालांकि हवा की गुणवत्ता में लगातार सुधार हो रहा है,लेकिन इस सुधार को बनाए रखने के लिए लोगों को अभी भी जागरूक होने की जरूरत है।

पर्यावरण मंत्री ने बताया कि  रेलवे, मेट्रो स्टेशन परियोजनाओं, हवाई अड्डों, अंतर्राष्ट्रीय बस टर्मिनलों, राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित प्रक्रियाओं, राष्ट्रीय महत्व की परियोजनाओं, अस्पतालों, स्वच्छता परियोजनाओं के लिए आवश्यक निर्माण का निर्माण कार्य किए जा सकते हैं। उन्होंने कहा अभी भी कुछ गतिविधियां प्रतिबंधित हैं, उनमें बोरिंग और खुदाई, संरचनात्मक निर्माण, विध्वंस और परियोजना स्थलों पर निर्माण सामग्री की लोडिंग या अनलोडिंग शामिल है।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 694366
आखरी अपडेट: 16th Apr 2024