प्रतिक्रिया | Monday, April 22, 2024

31/12/23 | 11:58 am

दुग्ध-उत्पादन में भारत विश्व में पहले स्थान पर,एनसीडीएफआई मुख्यालय का सहकारिता मंत्री ने रखी नींव 

केंद्रीय सहकारिता मंत्री अमित शाह ने बीते शनिवार को गुजरात के गांधीनगर में नेशनल कोऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन ऑफ इंडिया (एनसीडीएफआई) लिमिटेड के मुख्यालय की आधारशिला रखी। इस दौराम सभा को सम्बोधित करते हुए उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में भारत दुग्ध उत्पादन में विश्व में पहले स्थान पर है। वैश्विक दुग्ध उत्पादन में भारत का योगदान 24 प्रतिशत है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में पिछले आठ वर्षों में इसमें लगभग 51 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, जो विश्व की सर्वाधिक बढ़ोतरी है।  

दूध उत्पादन में सहकारी माॅडल भूमिका पर जोर देते हुए उन्होंने बताया कि सहकारी दृष्टिकोण से समाज, कृषि, गांवों, दूध उत्पादकों और पूरे देश को लाभ होता है। पिछले 50 वर्षों की सफलता की कहानी डेयरी उद्योग के विभिन्न पहलुओं पर सहकारी मॉडल के सकारात्मक पहल को दिखाती है। 

एनसीडीएफआई मुख्यालय सहकारिता की दिशा में महत्वपूर्ण कदम 

केंद्रीय मंत्री ने गुजरात के आनंद जिले में एनसीडीएफआई मुख्यालय की आधारशिला रखते हुए बताया कि इसे लगभग 7000 वर्ग मीटर फैले क्षेत्र में 32 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जा रहा है। मुख्यालय को पर्यावरण के अनुकूल पूर्णतया सौर ऊर्जा से संचालित होगा। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य और पोषण पर सहकारी क्षेत्र ने महतवपूर्ण योगदान दिया है। बनासकांठा डेयरी और अहमदाबाद डेयरी सहित सहकारी डेयरियों ने स्वास्थ्य पहल, खासकर बच्चों में कुपोषण को दूर करने और गर्भवती महिलाओं के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित हुआ है। 

डिजिटल क्रांति और सहकारी सशक्तिकरण

उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में ऑनलाइन भुगतान और डिजिटल लेनदेन की सफलता पर प्रकाश डाला। केंद्रीय मंत्री ने डिजिटल लेनदेन में भारत की तीव्र वृद्धि और इस क्षेत्र में वैश्विक नेता बनने की उम्मीद जताई। उन्होंने एनसीडीएफआई के सदस्यों से ई-बाजारों में अपनी भागीदारी बढ़ाने का आग्रह किया और गुजरात में किसानों के लिए रूपे कार्ड से जुड़े एक सफल प्रयोग के बारे में बताया जिसने गांवों की डेयरी को 'बैंक मित्र' रूप में बदल दिया। 

सहकारिता मंत्री ने कृषि अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने में सहकारी समितियों की भूनिका पर प्रकाश डालते उन्होंने बताया कि जैविक खेती, सहकारी समितियों के माध्यम से बीज संरक्षण की पहल साथ ही उन्होंने छोटे किसानों को सशक्त बनाने पर भी जोर दिया । केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने ई-नीलामी प्लेटफार्मों, ई-मार्केट पोर्टल पर दालों की खरीद और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से अधिक दर पर दालें बेचने में किसानों का समर्थन करने के लिए NAFED द्वारा एक समर्पित ऐप की बारे में जानकारी उन्होंने NAFED के माध्यम से भारत को तिलहन क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के प्रयासों पर भी प्रकाश डाला।

मक्का से इथेनॉल और इथेनॉल उत्पादन के लिए वैश्विक गठबंधन

सहकारिता मंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी द्वारा इथेनॉल के लिए बनाए गए वैश्विक गठबंधन की जानकारी दी और मक्के से इथेनॉल उत्पादन के लिए सरकार की नीति साझा की। मक्के की खेती करने वाले किसानों की पूरी उपज NAFED द्वारा एमएसपी से अधिक कीमतों पर खरीदी जाएगी, जिससे इथेनॉल विनिर्माण उद्योग को समर्थन मिलेगा।

समारोह के दौरान में गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल, गुजरात विधानसभा अध्यक्ष शंकर चौधरी, इफको के अध्यक्ष दिलीप संघानी, एनडीडीबी के अध्यक्ष डॉ. मीनेश शाह और एनसीडीएफआई के अध्यक्ष डॉ. मंगल राय सहित प्रमुख गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 861671
आखरी अपडेट: 22nd Apr 2024