प्रतिक्रिया | Thursday, April 18, 2024

03/08/23 | 4:17 pm

देश में अंगदान के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए सरकार उठा रही है कई कदम

लोगों की जिंदगी बचाने और जरूरतमंद की मदद के लिए देश में अंगदान को बढ़ावा दिया जा रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने कहा कि अंगदान करने के लिए लोगों को प्रेरित और प्रोत्साहित करने के लिए केन्द्र सरकार ने पोर्टेबिलिटी की दिशा में काम किया है। इसकी आयु सीमा 65 को हटा दिया गया और अंगदान के संबंध में एक डिजिटल प्लेटफॉर्म बनाया गया है। इस डिजिटल प्लेटफार्म में ऐसे लोगों की जानकारी है, जिन्होंने अंगदान करके दूसरे कई लोगों को जीवनदान दिया है।

अस्पतालों में अंगदान महोत्सव का आयोजन

दरअसल, अंगदान के प्रति लोगों को जागरूक करने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन 3 अगस्त को चिकित्सालयों में अंगदान महोत्सव का आयोजन कर रहा है। इस दौरान नई दिल्ली में 13वें भारतीय अंगदान दिवस के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित हुआ। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से आह्वान किया कि वे इस संबंध में ज्यादा-से-ज्यादा लोगों को जागरूक करें। व्यापक तौर पर जागरूकता का अभियान चलाएं। इससे अंगदान करने के प्रति लोगों को प्रेरणा मिलेगी।

2 लाख से ज्यादा अंगदान की आवश्यकता

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश में हर साल 2 लाख से ज्यादा अंग की आवश्यकता है लेकिन उपलब्धता 10 प्रतिशत से भी कम है। उन्होंने कहा कि साल 2013 में सालाना 5 हजार अंगदान होते थे, जिसकी संख्या 2023 में बढ़कर 15 हजार हो गई है। उन्होंने कहा कि अंगदान के प्रति लोगों की रुचि बढ़ाने की आवश्यकता है। दान, सेवा और दूसरों की मदद हमारी जीवन शैली है। कोरोना में भारत ने दुनिया की मदद कर इसका उदाहरण दिया है। अंगदान को बढ़ावा देने के लिए सरकारी कोशिशों के साथ नागरिकों की भी भागीदारी आवश्यक है। उन्होंने सुझाव दिया कि इस दिशा में आगे बढ़ते हुए हर राज्य में दो दिन की चिंतन बैठक होनी चाहिए। राज्य में अंगदान की संख्या कैसे बढ़े, इसके लिए चिकित्सकों, विशेषज्ञों और नागरिकों के साथ ग्रुप बना कर, चर्चाएं चलनी चाहिए। बैठकों के नतीजों से एक विजन तैयार होना चाहिए।

24 घंटे कॉल सेंटर, वेबसाइट और फ्री हेल्पलाइन नंबर

बता दें कि हाल ही में सरकार ने मृतदाता अंग प्राप्त करने के लिए रजिस्ट्रेशन की पात्रता के लिए 65 वर्ष की ऊपरी आयु सीमा को हटा दिया है। अब, किसी भी आयु का व्यक्ति मृत दाता अंग प्राप्त करने के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकता है। इसके अलावा एक वेबसाइट- www.notto.gov.in, और एक 24 घंटे कॉल सेंटर भी शुरू किया गया है ताकि अंग दान के लिए सूचना, टेली-परामर्श और समन्वय की सुविधा प्रदान की जा सके। लोग टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 18 00 11 47 70 पर संपर्क कर सकते हैं।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 732202
आखरी अपडेट: 17th Apr 2024