प्रतिक्रिया | Tuesday, April 16, 2024

01/03/24 | 3:35 pm

पीएम मोदी ने प. बंगाल को दी कई विकास परियोजनाओं की सौगात, कहा- ’21वीं सदी का भारत तेज गति से आगे बढ़ रहा है’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के हुगली के आरामबाग में 7,000 करोड़ रुपये से अधिक की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने 21वीं सदी के भारत के तीव्र विकास और 2047 तक भारत को विकसित बनाने के संकल्प का उल्लेख भी किया। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा- 21वीं सदी का भारत तेज गति से आगे बढ़ रहा है। हम सभी ने मिलकर 2047 तक विकसित भारत बनाने का लक्ष्य तय किया। देश का गरीब, किसान, महिला और युवा देश की प्राथमिकता है। हमने निरंतर गरीब कल्याण से जुड़े कदम उठाए हैं, जिसका परिणाम आज दुनिया देख रही है। 

बीते 10 वर्षों में देश के 25 करोड़ लोग गरीबी से बाहर निकले 

पीएम ने कहा बीते 10 वर्षों में देश के 25 करोड़ लोग गरीबी से बाहर निकले हैं। ये दिखाता है कि हमारी सरकार की दिशा, नीतियां, निर्णय सही है और उसका मूल कारण नियत सही है। पीएम ने बताया आज पश्चिम बंगाल के विकास के लिए 7,000 करोड़ रुपये से ज्यादा के प्रोजक्ट्स का उद्घाटन और शिलान्यास हुआ है। इनमें रेल,पोर्ट, पेट्रोलियम और जल शक्ति से जुड़ी परियोजनाएं शामिल हैं। 

पश्चिम बंगाल में रेलवे का आधुनिकीकरण उसी प्रकार हो जैसे देश के दूसरे हिस्सों में हो रहा है

पीएम ने कहा, हमारा प्रयास है कि पश्चिम बंगाल में रेलवे का आधुनिकीकरण उसी प्रकार से हो जैसे देश के दूसरे हिस्सों में हो रहा है। आज जिन परियोजनाओं का लोकार्पण हुआ है उनमें झाड़ग्राम-सलगाजरी तीसरी रेल लाइन से रेल परिवहन और बेहतर होगा। इससे क्षेत्र के उद्योगों और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।  

डांकुनी-बट्टनगर-बाल्टिकुरी रेल रूट का किया जा रहा दोहरीकरण 

सोंडालिया-चंपापुकुर और डांकुनी-बट्टनगर-बाल्टिकुरी रेल रूट पर दोहरीकरण भी किया गया है। इससे उस रूट पर रेलों की आवाजाही भी बेहतर होगी। भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखकर श्यामा प्रसाद मुखर्जी पोर्ट और इससे जुड़ी तीन और योजनाओं का विस्तार किया जा रहा है। इस पर भी केंद्र सरकार 1000 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च करने जा रही है। 

भारत ने दिखाया- पर्यावरण के साथ तालमेल बैठाकर विकास कैसे किया जा सकता है

पीएम मोदी ने जोर देते हुए कहा, भारत ने दुनिया को दिखाया कि पर्यावरण के साथ तालमेल बैठाकर विकास कैसे किया जा सकता है। हल्दिया से बरौनी तक 500 किलोमीटर से ज्यादा लंबी क्रूड ऑयल की पाइपलाइन इसका उदाहरण है। इसके जरिए क्रूड ऑयल को चार राज्यों बिहार, झारखंड, ओडिशा और पश्चिम बंगाल से होते हुए तीन अलग-अलग रिफाइनरी तक पहुंचाया जाएगा। इससे खर्च भी कम होगा और पर्यावरण सुरक्षा से जुड़ी चिंताएं भी कम होगी। 

पश्चिम मेदिनीपुर में एलपीजी बॉटलिंग प्लांट शुरू

प्रधानमंत्री ने बताया आज पश्चिम मेदिनीपुर में एलपीजी बॉटलिंग प्लांट शुरू हुआ है उसका लाभ सात जिलों को होगा। इससे यहां एलपीजी की मांग को पूरा करने में मदद मिलेगी और साथ-साथ नौजवानों के लिए रोजगार के अनेक नए अवसर बनेंगे। आज हुगली नदी के प्रदूषण को कम करने के उद्देश्य से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट को भी शुरू किया जा रहा है। इसका भी फायदा हावड़ा, कमरहाटी और बारानगर के क्षेत्र में रहने वाले लाखों लोगों को होगा। 

पिछले 10 वर्षों में पश्चिम बंगाल में वर्षों से रुके पड़े कई रेलवे प्रोजेक्ट्स पूरे हुए हैं

पीएम ने कहा, किसी भी राज्य में इंफ्रास्ट्रक्चर का एक प्रोजेक्ट शुरू होता है तो वहां के लोगों के लिए कई रास्ते तैयार हो जाते हैं। भारत सरकार ने रेलवे के विकास के लिए 13,000 करोड़ रुपये से ज्यादा का बजट दिया है। उन्होंने बताया कि यह राशि 2014 से पहले की तुलना में तीन गुना से भी अधिक है। पीएम ने कहा, हमारा प्रयास है कि यहां रेल लाइनों का इलेक्ट्रिफिकेशन, यात्री सुविधाओं का विस्तार और रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास तेज गति से हो। पिछले 10 वर्षों में पश्चिम बंगाल में वर्षों से रुके पड़े कई रेलवे प्रोजेक्ट्स पूरे हुए हैं। 10 साल में बंगाल के 3000 किलोमीटर से ज्यादा रेलवे ट्रैक का इलेक्ट्रिफिकेशन किया गया है। 

'अमृत भारत स्टेशन' के तहत पश्चिम बंगाल के करीब 100 रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास किया जा रहा है

पीएम ने कहा अमृत भारत स्टेशन के तहत पश्चिम बंगाल के करीब-करीब 100 रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास किया जा रहा है। तारकेश्वर रेलवे स्टेशन को भी अमृत रेलवे स्टेशन के रूप में विकसित किया गया है। पिछले 10 वर्षों में पश्चिम बंगाल में 150 से ज्यादा नई ट्रेन सेवा शुरू की गई है। पांच नई वंदे भारत एक्सप्रेस बंगाल के लोगों को रेल यात्रा का बिलकुल नया अनुभव करा रही है। आखिर में पीएम ने कहा, मुझे विश्वास है पश्चिम बंगाल के सहयोग से हम विकसित भारत का संकल्प भी पूरा करेंगे।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 694597
आखरी अपडेट: 16th Apr 2024