प्रतिक्रिया | Monday, April 22, 2024

05/01/24 | 1:15 pm

पीएम श्री स्कूल 2047 तक विकसित भारत के लक्ष्य को साकार करेंगे : धर्मेन्‍द्र प्रधान

केन्‍द्रीय शिक्षा और कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ गुरुवार को उत्तर प्रदेश के लखनऊ में 928 पीएम श्री स्कूलों का शुभारंभ किया। केन्‍द्रीय शिक्षामंत्री ने इस मौके पर कहा कि एनईपी 2020 में एक तार्किक दस्तावेज के रूप में दुनिया का नेतृत्व करने की क्षमता हैं। उन्होंने यह भी कहा कि देश के 26 करोड़ छात्रों में से, लगभग 20 प्रतिशत राज्य से आते हैं और इसलिए वे 2047 तक विकसित भारत के लक्ष्य को साकार करने के लिए महत्वपूर्ण होंगे।

इस अवसर पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधान ने कहा कि राज्य में पीएम-श्री के तहत 1000 से अधिक स्कूलों का विकास और आधुनिकीकरण इस दिशा में एक कदम है। उन्होंने विश्व स्तरीय शिक्षा प्रदान करने के लिए स्कूलों के बुनियादी ढांचे में सुधार करने और इसे सरकार के प्रमुख एजेंडे में से एक बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी का आभार व्यक्त किया। 

केन्‍द्रीय शिक्षा मंत्री ने पिछले तीन वर्षों में राज्य में एनईपी 2020 की सिफारिशों को लागू करने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के प्रयासों की भी सराहना की। उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि पहले चरण में, उत्तर प्रदेश के 928 सरकारी स्कूलों को पीएम श्री योजना में शामिल किया जा रहा है, जिसमें 81 केन्‍द्रीय और जवाहर नवोदय विद्यालय शामिल हैं। प्रधान ने कहा कि एनईपी 2020, एक तार्किक दस्तावेज के रूप में, दुनिया का नेतृत्व करने की क्षमता रखता है।

मंत्री ने यह भी कहा कि देश के 26 करोड़ छात्रों में से, लगभग 20 प्रतिशत राज्य से आते हैं और इसलिए वे 2047 तक विकसित भारत के लक्ष्य को साकार करने के लिए महत्वपूर्ण होंगे। उन्होंने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि राज्य के नवोदय विद्यालय के छात्रों ने कैसे बिना किसी कोचिंग के आईआईटी, सरकारी मेडिकल कॉलेज, एनआईटी आदि प्रतियोगी प्रवेश परीक्षाओं में सफलता प्राप्त की। उन्होंने उत्तर प्रदेश में कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों के छात्रों को विज्ञान पढ़ाने में आईआईटी गांधीनगर, गुजरात के सेंटर फॉर क्रिएटिव लर्निंग से मदद लेने के राज्य के प्रयास की सराहना की।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूरे राज्य में 1753 स्कूलों को पीएम श्री स्कूलों के रूप में अपग्रेड करने के लिए चुना गया है। स्कूलों में बालवाटिका, स्मार्ट क्लासरूम, विज्ञान प्रयोगशालाएं, डिजिटल लाइब्रेरी और खेल सुविधाओं जैसे बुनियादी ढांचे में सुधार किया जायेगा।  
 

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 854091
आखरी अपडेट: 22nd Apr 2024