प्रतिक्रिया | Tuesday, April 16, 2024

05/11/23 | 10:38 am

प्रदूषण स्तर में मामूली गिरावट, दिल्ली में वायु गुणवत्ता अभी भी ‘गंभीर’ श्रेणी में, AQI 410 पर 

लगातार चौथे दिन भी दिल्ली में हवा की गुणवत्ता 'गंभीर' श्रेणी में बनी हुई है, हालांकि रविवार को समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) में मामूली गिरावट के साथ AQI 410 दर्ज हुई। सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR-India) के मुताबिक लोधी रोड क्षेत्र में वायु गुणवत्ता 385 (बहुत खराब),जबकि दिल्ली विश्वविद्यालय क्षेत्र में 456 के साथ (गंभीर) स्तर में है।

लोधी गार्डन में सुबह की सैर करने वाले वालों ने बढ़ते प्रदूषण से सांस लेने में कठिनाई की शिकायत की। लोगों ने बताया यहाँ प्रदूषण की स्थिति बेहद खराब है,आंखों में जलन व सांस लेने में कठिनाई महसूस हो रही है। लोधी गार्डन में पहले काफी लोग आते थे, लेकिन अब सिर्फ 10 फीसदी लोग ही यहाँ आ रहे हैं। 

माॅर्निंग वाॅक करने से बच रहे हैं लोग

ऐसी ही स्थिति नोएडा में भी बनी हुई, जहाॅं  SAFAR-इंडिया के अनुसार, AQI 466 के साथ हवा की गुणवत्ता 'गंभीर' श्रेणी में पहुंच गई। तो वहीं गुरुग्राम में AQI 392 दर्ज हुई,जो हवा की गुणवत्ता 'बहुत खराब' श्रेणी में रही। 

श्वास सम्बंधी बीमारियों का बढ़ने का खतरा

डॉक्टरों के अनुसार, किसी भी स्वस्थ व्यक्ति के लिए अनुशंसित AQI 50 से कम होना चाहिए, लेकिन इन दिनों AQI 400 से अधिक हो गया है, जो फेफड़ों से संबंधित बीमारियों से पीड़ित लोगों के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

केवल बीएस-6 मानक वाले वाहनों को ही मिले दिल्ली में प्रवेश की अनुमति

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेन्द्र यादव को पत्र लिखा, जिसमें दिल्ली-एनसीआर में पड़ोसी राज्यों से बीएस-6 मानकों का पालन नहीं करने वाले वाहनों को दिल्ली में प्रवेश नहीं देने की अनुमति का अनुरोध किया है ।राय ने कहा, ''पिछले दो दिनों में प्रदूषण के स्तर में बढ़ोतरी को देखते हुए कल से दिल्ली में निर्माण पर रोक लगा दी गई है। कल के मुकाबले आज प्रदूषण के स्तर में कुछ सुधार हुआ है,हालांकि स्थिति अभी भी गंभीर है, नियम बन रहे हैं और सीएक्यूएम निर्देश दे रहा है लेकिन पूरे एनसीआर में नियमों का ठीक से पालन नहीं हो रहा है, वायु प्रदूषण पूरे उत्तर भारत की समस्या  बन गई है।'' 

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने मांगी रिपोर्ट

चूंकि दिल्ली-एनसीआर के कई हिस्सों में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 'गंभीर' श्रेणी में है, नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने शुक्रवार को प्रभावित राज्यों के मुख्य सचिवों से से प्रतिक्रिया मांगी है, जहाँ शहरों का AQI गंभीर, बहुत खराब और खराब स्तर तक गिर गया है, उन्हें तत्काल उपचारात्मक कार्रवाई करने और ट्रिब्यूनल के समक्ष की गई कार्रवाई की रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया गया है।”

एनजीटी ने अपने एक बयान में कहा कि इन शहरों में वायु प्रदूषण के रोकथाम और नियंत्रण के लिए तत्काल कार्रवाई की आवश्यकता है, ताकि निवासियों को बेहतर वायु गुणवत्ता सुनिश्चित किया जा सके।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 694630
आखरी अपडेट: 16th Apr 2024