प्रतिक्रिया | Thursday, April 18, 2024

01/12/23 | 2:41 pm

भारत 2047 तक अपने 3.7 ट्रिलियन डॉलर में 30 ट्रिलियन डॉलर और जोड़ लेगा : पीयूष गोयल 

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने तीसरे भारत ऋण पूंजी बाजार शिखर सम्मेलन 2023 के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर पर भारत का ध्यान अर्थव्यवस्था को सशक्त बना रहा है तथा इसे और अधिक गति प्रदान कर रहा है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत 7.6 प्रतिशत की तीव्र गति से बढ़ रहा है, जो बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच विश्‍व में सबसे तेज है। उन्होंने कहा कि भारत 2047 तक अपने 3.7 ट्रिलियन डॉलर में 30 ट्रिलियन डॉलर और जोड़ लेगा। 

देश विश्‍व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था

वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान में बताया गया कि केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि अवसंरचना की दिशा में सरकारी और निजी क्षेत्र दोनों से व्‍यापक स्‍तर पर निवेश देश की ढांचागत क्षमताओं (structural capabilities ) को बढ़ावा दे रहा है। उन्होंने कहा कि वित्तपोषण का प्रतिस्पर्धी स्रोत उन लोगों से निवेश आकर्षित कर रहा है जो अधिक सुरक्षा की खोज में हैं। उन्होंने कहा कि शेयर बाजार भी पहली बार 4 ट्रिलियन का आंकड़ा छू रहा है और शीर्ष पांच वैश्विक बाजारों में से एक होने के कारण भारत के पास बड़े अवसर हैं। 
उन्होंने बताया कि देश विश्‍व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और इस तिमाही में 7.6 प्रतिशत की दर से सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है। गोयल ने यह उल्‍लेख करते हुए बताया  कि भारत दुनिया के एक विश्वसनीय भागीदार और एक जीवंत लोकतंत्र के रूप में बहुत उज्ज्वल भविष्य के शिखर पर खड़ा है जहां लोग कानून के शासन को स्‍वीकार करते हैं और उसका सम्मान करते हैं, उन्होंने आगे कहा, “विश्‍व आज भारत पर भरोसा करता है।”

विकसित भारत का स्‍वप्‍न

पीयूष गोयल ने आगे कहा कि अमृत काल में हम एक विकसित भारत का स्‍वप्‍न देखते हैं जहां हम विकसित और समृद्ध भारत की दिशा में अपनी यात्रा पर हैं। उन्होंने कहा कि भारत 2047 तक अपने 3.7 ट्रिलियन डॉलर में 30 ट्रिलियन डॉलर और जोड़ लेगा। उन्होंने आगे कहा कि एक लचीला ऋण पूंजी बाजार नवाचार, (innovation) उद्यमिता (entrepreneurship) और अवसंरचना (infrastructure) के विकास के लिए उत्प्रेरक होगा। 

अगले कुछ दशकों में व्‍यापक स्‍तर पर शहरीकरण होगा

उन्होंने कहा कि अगले कुछ दशकों में व्‍यापक स्‍तर पर शहरीकरण होगा, जबकि श्रेणी 2 शहर भी महानगर बनने जा रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों की आय बढ़ रही है, जिससे देश भर में व्‍यय करने की शक्ति बढ़ रही है। एआई, सेमीकंडक्टर, इलेक्ट्रिक वाहन (AI, Semiconductor, Electric Vehicles) जैसे भविष्य के सेक्‍टर हमारे भविष्य को शक्ति प्रदान करेंगे। हरित और टिकाऊ ऊर्जा (Green and sustainable energy) ही भविष्‍य का रास्ता होगी और पूंजी बाजार तथा ऋण बाजार हमारी ऊर्जा को निम्न कार्बन अर्थव्यवस्था में रूपान्‍तरित करने में अपनी भूमिका निभा रहे हैं। गोयल ने कॉर्पोरेट जगत से खोने के डर के बिना भारत में निवेश (Investment) करने का आग्रह किया।

विश्‍व भर में चल रहे दो संघर्ष के बावजूद निर्यात संख्या में वृद्धि

पीयूष गोयल ने आगे कहा कि भारत वस्तुओं और सेवाओं के निर्यात को 2021 के 500 बिलियन से लगभग 55 प्रतिशत बढ़ाकर पिछले वर्ष 776 बिलियन करने में सक्षम रहा है। उन्होंने कहा कि विश्‍व भर में दो संघर्ष चल रहे हैं और विकसित अर्थव्यवस्थाओं में मंदी (Recession) की आशंका है। उन्होंने कहा कि फिर भी उन्हें चालू वर्ष में निर्यात संख्या में वृद्धि का भरोसा है।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 736934
आखरी अपडेट: 18th Apr 2024