प्रतिक्रिया | Thursday, April 18, 2024

16/01/24 | 2:24 pm

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह से पहले अयोध्या में पिंक ऑटो सेवा शुरू, तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपत राय ने जताया आभार

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपत राय ने राम मंदिर के बहुप्रतीक्षित 'प्राण प्रतिष्ठा समारोह' से पहले अयोध्या में पिंक ऑटो सेवा शुरू करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के प्रति आभार व्यक्त किया है। पिंक ऑटो सेवा, राज्य परिवहन विभाग की ओर से एक पहल है, जो यात्रियों को इलेक्ट्रिक ऑटो की सुविधा प्रदान करेगी जिसका उद्देश्य शहर में आयोजित हो रहे विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमों में भाग लेने वाले यात्रियों को गन्तव्य स्थल तक पहुंचाना है। यह पहल 22 जनवरी को होने वाले 'प्राण प्रतिष्ठा समारोह' की तैयारियों का एक हिस्सा है,जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भव्य मंदिर में राम लला की मूर्ति की स्थापना में शामिल होंगे। 

महिलओं द्वारा संचालित हो रही है पिंक ऑटो 
 
चंपत राय ने इस पहल की सराहना करते हुए कहा, “यूपी सरकार द्वारा प्रदान किया गया प्रदूषण से मुक्त यह वाहन अयोध्या के लिए यह एक सराहनीय कदम उठाया गया है। इलेक्ट्रिक ऑटो सेवा में दो प्रकार शामिल हैं जिनमें सफेद ऑटो पुरुषों द्वारा और गुलाबी ऑटो महिलाओं द्वारा संचालित हो रही हैं। वाहनों को भव्य समारोह की अगुवाई के दौरान शहर में धार्मिक कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए स्थानीय लोगों और आगंतुकों की सहायता के लिए के लिए तैयार किया गया है।

बता दें कि 16 जनवरी यानी आज से शुरू होकर सात दिनों तक चलने वाला 'प्राण प्रतिष्ठा' समारोह एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम है जिसके लिए हजारों वीआईपी मेहमानों को राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट तरफ से निमंत्रण मिला है। ट्रस्ट ने उपस्थित लोगों के स्वागत और सम्मान के लिए विस्तृत व्यवस्था की है, उन्हें 'राम राज' सहित विशेष उपहार दिए जाएंगे। ट्रस्ट की ओर से मेहमानों को प्रसाद के रूप में देसी घी से बने विशेष 'मोतीचूर के लड्डू' वितरित करने की योजना बनाई गई है। 

11,000 से अधिक मेहमानों को मिला है प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए निमंत्रण

एक अनूठे भाव में, समारोह के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जूट के थैले में राम मंदिर की 15 मीटर की तस्वीर भेंट की जाएगी। बता दें कि देशभर से करीब 11,000 से अधिक मेहमानों को प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए निमंत्रण मिला है, जिसमें यादगार उपहार प्रदान करने की विशेष व्यवस्था की गई है। उपस्थित लोगों को मंदिर से निकली पूजनीय राम राज मिट्टी से सम्मानित किया जाएगा, जो एक यादगार स्मृति चिन्ह के रूप में काम आएगी। यह पवित्र उपहार अपने दिव्य महत्व के साथ घरों के बगीचों या गमलों में उपयोग के लिए है, 22 जनवरी को होने वाले राम लला की प्राण प्रतिष्ठा का मुख्य अनुष्ठान लक्ष्मीकांत दीक्षित के नेतृत्व में पुजारियों की एक टीम द्वारा किया जाएगा।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 763786
आखरी अपडेट: 18th Apr 2024