प्रतिक्रिया | Monday, April 22, 2024

08/03/24 | 4:37 pm

राष्ट्रपति ने भारतीय वायु सेना की चार इकाइयों को राष्ट्रपति मानक और रंग से किया सम्मानित

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने आज (8 मार्च, 2024) उत्तर प्रदेश स्थित वायु सेना स्टेशन हिंडन में आयोजित एक समारोह में 45 स्क्वाड्रन व 221 स्क्वाड्रन को राष्ट्रपति मानक और 11 बेस रिपेयर डिपो व 509 सिग्नल यूनिट को राष्ट्रपति रंग से सम्मानित किया।

राष्ट्रपति मुर्मु ने कहा कि हमारे देश की रक्षा में भारतीय वायु सेना का योगदान स्वर्णिम अक्षरों में लिखा गया है। वायु सेना की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि वायु योद्धाओं ने साल 1948, 1965, 1971 और 1999 के युद्धों में अद्भुत साहस, समर्पण व आत्म-बलिदान का परिचय दिया है। इसके अलावा देश-विदेश में आपदाओं के दौरान राहत और बचाव कार्यों में भी वायु सेना का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। 

द्रौपदी मुर्मु ने आगे कहा कि यह काफी प्रसन्नता की बात है कि भारतीय वायु सेना न केवल देश के आकाशीय क्षेत्र की रक्षा कर रही है बल्कि, भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम में भी अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रही है। वायु सेना के सभी अधिकारियों और जवानों के लिए यह काफी गर्व की बात है कि जिन चार अंतरिक्ष यात्रियों को इसरो के गगनयान मिशन के लिए चुना गया है, वे वायुसेना के अधिकारी हैं।

राष्ट्रपति ने कहा कि तेजी से बदलते इस युग में सुरक्षा आवश्यकताएं और प्राथमिकताएं भी तेजी से बदल रही हैं। अन्य क्षेत्रों की तरह रक्षा क्षेत्र में भी तकनीक की भूमिका महत्वपूर्ण होती जा रही है। उन्होंने इस पर अपनी प्रसन्नता व्यक्त की कि भारतीय वायु सेना पिछले कुछ वर्षों से आधुनिक तकनीक अपना रही है।

राष्ट्रपति मुर्मु ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर सभी महिलाओं को शुभकामनाएं दीं। उन्होंने भारतीय वायु सेना की सभी शाखाओं में महिलाओं को समान अवसर प्रदान किए जाने पर प्रसन्नता व्यक्त की।  राष्ट्रपति ने विश्वास के साथ कहा कि आने वाले समय में अधिक से अधिक लड़कियां वायुसेना में शामिल होंगी और वायुसेना में महिलाओं का बढ़ता प्रतिनिधित्व इस सेना को और अधिक समावेशी बनाएगा।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 863998
आखरी अपडेट: 22nd Apr 2024