प्रतिक्रिया | Thursday, April 18, 2024

15/12/23 | 9:22 am

‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ में दो करोड़ से अधिक लोगों ने लिया भाग, देशभर में बना परिवर्तनकारी अभियान

विकसित भारत संकल्प यात्रा में लोगों की भागीदारी दो करोड़ के पार हो गई है। इस संबंध में गुरुवार को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने बताया कि विकसित भारत संकल्प यात्रा में पिछले सात दिनों में ही लोगों की भागीदारी दोगुनी हो गई है। एक हफ्ते पहले इन यात्राओं में एक करोड़ से अधिक लोगों ने भाग लिया था लेकिन अब यह संख्या बढ़कर गुरुवार को दो करोड़ हो गई है। 

उद्देश्य 

ज्ञात हो, विकसित भारत संकल्प यात्रा देशभर में नागरिकों के साथ संबंधों को बढ़ावा देने वाला एक परिवर्तनकारी अभियान बनकर उभरी है। एक अभूतपूर्व आउटरीच प्रयास में यह यात्रा सूचना, शिक्षा और संचार (आईईसी) वैनों का उपयोग करके 2.60 से अधिक ग्राम पंचायतों और 3,600 से अधिक शहरी स्थानीय निकायों को कवर करने की ओर बढ़ रही है। इन वैनों के जरिए लोगों से आह्वान किया जाता है कि वे अपने लाभ के लिए सरकारी योजनाओं का उपयोग करें।

केंद्रीय बिंदु महिला-केंद्रित योजनाओं की जागरूकता बढ़ाना

इस यात्रा का एक केंद्रीय बिंदु महिला-केंद्रित योजनाओं को लेकर जागरूकता बढ़ाना है जिसके चलते बड़ी संख्या में लाभार्थियों ने पीएम उज्ज्वला योजना के लिए नामांकन किया है। इसी प्रकार स्वास्थ्य शिविर भी एक बड़ा आकर्षण साबित हुए हैं और अब तक लाखों व्यक्तियों की जांच की जा चुकी है।

केवल इतना ही नहीं, विकसित भारत संकल्प यात्रा के हिस्से के रूप में किसानों के लिए किए गए ड्रोन प्रदर्शनों ने काफी उत्सुकता पैदा की है। इसी क्रम में 'ड्रोन दीदी योजना' के तहत 15,000 महिला स्वयं सहायता समूहों को ड्रोन प्रदान किए जा रहे हैं। ड्रोन चलाने के लिए दो महिला सदस्यों को आवश्यक प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। इसके शुभारंभ के साथ ही बड़ी संख्या में महिलाएं ड्रोन उड़ानों को देखने के लिए आगे आ रही हैं। बाद में ये समूह एक शुल्क लेकर ड्रोन सेवाओं को किराए पर देंगे, जो कि इन स्वयं सहायता समूह के सदस्यों के लिए राजस्व के एक और जरिए के रूप में काम करेगा।

60 हजार ग्राम पंचायतों तक पहुंच चुकी यात्रा

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अनुसार यह यात्रा लगभग 60 हजार ग्राम पंचायतों तक पहुंच चुकी है। यात्रा की “मेरी कहानी, मेरी जुबानी” पहल के तहत 1.30 करोड़ से अधिक लोगों ने अपने अनुभवों और आकांक्षाओं को साझा किया। इस विकसित भारत संकल्प यात्रा में स्वास्थ्य शिविर आयोजित किए जा रहे हैं, जिसमें अब तक 42 लाख से अधिक लोगों की जांच की जा चुकी है। 

80 लाख प्रतिभागियों के साथ उत्तर प्रदेश अग्रणी

मंत्रालय के मुताबिक यात्रा में भागीदारी के मामले में, लगभग 80 लाख प्रतिभागियों के साथ उत्तर प्रदेश अग्रणी है। उसके बाद 29 लाख से अधिक प्रतिभागियों के साथ महाराष्ट्र और 23 लाख से अधिक प्रतिभागियों के साथ गुजरात तीसरे स्थान पर है। 

यात्रा के दौरान क्या कुछ खास हुआ ?

यात्रा के दौरान 29 हजार से अधिक ग्राम पंचायतों में आयुष्मान कार्ड्स में शत प्रतिशत कवरेज हासिल कर लिया है, 18 हजार से अधिक ग्राम पंचायतें 'हर घर जल' योजना से 100 फीसदी जुड़ चुकी हैं। 34 हजार से अधिक ग्राम पंचायतों ने भूमि रिकॉर्ड का पूर्ण डिजिटलीकरण कर लिया गया है। स्वच्छ भारत पहल के तहत 9 हजार से अधिक ग्राम पंचायतें ओडीएफ प्लस मॉडल मानदंडों को पूरा करती हैं।

पीएम मोदी ने 15 नवंबर को झारखंड से यह यात्रा की शुरू 

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 नवंबर को झारखंड के खूंटी से विकसित भारत संकल्प यात्रा की शुरुआत की थी। इस यात्रा के माध्यम से सरकार अपनी महत्वाकांक्षी पहल और योजनाओं को जन जन तक पहुंचाने का काम कर रही है। इसका उद्देश्य सरकार और लोगों के बीच की दूरी को पाटना, समुदायों को सशक्त बनाना और एक समावेशी और विकासशील भारत की नींव रखना है।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 733020
आखरी अपडेट: 17th Apr 2024