प्रतिक्रिया | Wednesday, April 24, 2024

29/12/23 | 3:30 pm

विकसित भारत संकल्प यात्रा के हेल्थ कैम्पों का 2 करोड़ लोगों ने उठाया लाभ : मंत्रालय

विकसित भारत संकल्प यात्रा (VBSY) अब तक 1 लाख से अधिक ग्राम पंचायतों में पहुंच चुकी है और इनमें भाग लेने वालों की कुल संख्या 2 करोड़ से अधिक है। इस यात्रा के तहत सिकल सेल रोग के लिए 8.5 लाख से अधिक लोगों की जांच की गई और 27,630 से अधिक लोगों को उच्च सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं में भेजा गया।

शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि विकसित भारत संकल्प यात्रा के तहत अब तक 1,08,500 ग्राम पंचायतों और शहरी स्थानीय निकायों में संचयी पैदल यात्रियों की संख्या 2,10,24,874 तक पहुंच गई है। ज्ञात हो कि विकसित भारत संकल्प यात्रा को माननीय प्रधानमंत्री ने 15 नवंबर को झारखंड में खूंटी से देश भर में केंद्र सरकार की योजनाओं के लाभों की परिपूर्णता के लिए शुरू किया था। विकसित भारत संकल्प यात्रा के तहत ऑन-स्पॉट सेवाओं के तहत ग्राम पंचायतों में आईईसी वैन के रुकने वाले स्थानों पर स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। 29 दिसंबर तक एक लाख ग्राम पंचायतों और शहरी स्थानीय निकायों में आयोजित हुए स्वास्थ्य शिविरों का कुल 2 करोड़ लोगों ने लाभ उठाया है। 

इन हेल्थ कैम्पों  में बहुत सी गतिविधियां आयोजित की जा रही हैं, जैसे की आयुष्मान भारत – प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबी-पीएमजेएवाई) के तहत विकसित भारत संकल्प यात्रा के लिए आयुष्मान एप का उपयोग करके आयुष्मान कार्ड बनाए जा रहे हैं। लाभार्थियों को कार्ड वितरित किए जा रहे हैं। 44वें दिन के अंत तक 32,54,611 से अधिक कार्ड वितरित किए गए। एनएचए से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार जिन जिलों में कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं, वहां अब तक 1,44,80,498 कार्ड बनाए जा चुके हैं।

मंत्रालय के अनुसार टीबी के रोगियों की जांच लक्षणों की अब तक 80,01,825 से अधिक लोगों की जांच की गई है, जिनमें से 4,86,043 से अधिक को उच्च सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए रेफर किया गया है। निक्षय मित्र बनने के इच्छुक प्रतिभागियों को ऑन-स्पॉट पंजीकरण भी प्रदान किया जा रहा है। 44वें दिनों में अबतक 1,40,852 से अधिक रोगियों ने पीएमटीबीएमए के तहत अपनी सहमति दी और 50,799 से अधिक नए निक्षय मित्र पंजीकृत किए गए। अब तक, 8,51,194 से अधिक लोगों की जांच की गई, जिनमें से 27,630 लोग सकारात्मक पाए गए हैं। 

यही नहीं हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज की जांच के लिए भी पात्र आबादी (30 वर्ष और उससे अधिक) की स्क्रीनिंग की जा रही है और पॉजिटिव लक्षण पाए जाने पर मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए उच्च स्वास्थ्य केंद्रों में रेफर किया जा रहा है। ज्ञात हो कि चौवालीसवें दिन के अंत तक लगभग 15,694,596 लोगों की हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज के लिए जांच की गई थी।

 

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 902634
आखरी अपडेट: 23rd Apr 2024