प्रतिक्रिया | Friday, June 14, 2024

 

 

लोकसभा चुनाव 2024 के लिए प्रचार का शोर थम चुका है। अब आखिरी चरण के तहत 1 जून को वोटिंग होगी। ऐसे में बीजेपी नेता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम चुनाव के अंतिम चरण के लिए गुरुवार को पंजाब के होशियारपुर में अपना चुनाव अभियान समाप्त किया। चुनाव प्रचार पर गौर करें तो बीजेपी अपने तीसरे कार्यकाल की ओर देख रही है, और पीएम मोदी ने देशभर में अपनी पार्टी के लिए व्यापक रूप से प्रचार किया है। 

चुनाव प्रचार के बाद पीएम के आगे का कार्यक्रम

वहीं अपना लोकसभा चुनाव अभियान समाप्त करने के बाद पीएम मोदी 30 मई से 1 जून तक तमिलनाडु के कन्याकुमारी का दौरा करने वाले हैं, जहां वे प्रसिद्ध विवेकानंद रॉक मेमोरियल का दौरा करेंगे। पीएम की 30 मई की शाम से 1 जून की शाम तक ध्यान मंडपम में ध्यान लगाने की योजना है, यह वही स्थान है जहां स्वामी विवेकानंद ने कभी ध्यान लगाया था। यह भारत का सबसे दक्षिणी छोर है। इसके अलावा, यह वह स्थान है जहां भारत की पूर्वी और पश्चिमी तटरेखाएं मिलती हैं। यह हिंद महासागर, बंगाल की खाड़ी और अरब सागर का मिलन बिंदु भी है। पीएम मोदी कन्याकुमारी जाकर राष्ट्रीय एकता का संकेत दे रहे हैं। 

हर बार चुनाव प्रचार के अंत में आध्यात्मिक यात्रा

प्रधानमंत्री चुनाव प्रचार के अंत में आध्यात्मिक यात्रा करने के लिए जाने जाते हैं। इसी क्रम में वे 30 मई को कन्याकुमारी पहुंचेंगे और 1 जून तक वहीं रहेंगे। 2019 में उन्होंने केदारनाथ और 2014 में शिवाजी के प्रतापगढ़ का दौरा किया था। 

पीएम मोदी के 2024 चुनावी अभियान पर एक नजर

प्रधानमंत्री ने इस साल 16 मार्च को कन्याकुमारी में चल रहे लोकसभा चुनाव के लिए अपने चुनाव अभियान की शुरुआत की। प्रधानमंत्री ने 75 दिनों में 200 से अधिक चुनाव प्रचार कार्यक्रम आयोजित किए, जिसमें 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए उनकी रैलियां और रोड शो शामिल हैं। पीएम मोदी ने लोकसभा चुनाव के सात चरणों के लिए विभिन्न निर्वाचन क्षेत्रों में रैलियां कीं। जिन प्रमुख राज्यों में उन्होंने सबसे अधिक रोड शो और रैलियां कीं, उनमें उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र और ओडिशा शामिल हैं। पीएम मोदी ने विभिन्न मीडिया संगठनों को रिकॉर्ड संख्या में साक्षात्कार भी दिए और केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यों पर प्रकाश डाला। उन्होंने धर्म के आधार पर आरक्षण, नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के कार्यान्वयन, अयोध्या में राम मंदिर, जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को निरस्त करने और अन्य सहित विभिन्न मुद्दों पर विपक्ष की आलोचना की। 

4 जून को परिणाम

बता दें कि आठ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में फैले 57 लोकसभा क्षेत्रों के मतदाता शनिवार को सातवें और अंतिम चरण के मतदान में अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जो लगभग 44 दिनों तक चलने वाले मतदान अभ्यास का समापन होगा। 543 लोकसभा सीटों के लिए चुनाव 19 अप्रैल से शुरू होकर सात चरणों में हो रहे हैं। मतों की गिनती 4 जून को होगी।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 3560811
आखरी अपडेट: 14th Jun 2024