प्रतिक्रिया | Tuesday, April 16, 2024

30/11/23 | 4:30 pm

54वें इफ्फी में ‘कांतारा’ के लिए विशेष जूरी पुरस्कार से सम्मानित हुए भारतीय फिल्मकार ऋषभ शेट्टी

प्रतिष्ठित 54वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (इफ्फी) में विख्‍यात भारतीय फिल्मकार, अभिनेता और लेखक ऋषभ शेट्टी को 'कांतारा' पर उनके बेमिसाल कार्य के लिए विशेष जूरी पुरस्कार सम्‍मानित किया गया। महोत्सव के समापन समारोह के रोमांचकारी वातावरण में कांतारा का प्रीक्वल-कांतारा, चैप्टर-1 के फर्स्ट-लुक ट्रेलर का अनावरण किया गया, जिसका मंत्रमुग्ध दर्शकों ने गर्मजोशी से स्‍वागत किया। 

 

कांतारा के लिए मिला स्पेशल जूरी पुरस्कार  
बता दें कि 54वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का 28 नवंबर को रंगारंग समापन हो गया। IFFI 54 के समापन समारोह में फिल्म और मनोरंजन जगत की जानी-मानी हस्तियों, फिल्म निर्माताओं और दिग्गजों ने भागीदारी की। गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत, स्पेनिश सिनेमैटोग्राफर जोस लुइस अल्काइन और फ्रांसीसी फिल्म निर्माता एवं आईएफएफआई जूरी सदस्य कैथरीन डुसार्ट ने भारतीय फिल्म निर्माता ऋषभ शेट्टी को उनके समीक्षकों द्वारा प्रशंसित फिल्म कांतारा के लिए स्पेशल जूरी पुरस्कार दिया। 

 

जूरी ने कांतारा की सराहना 
जूरी ने एक बेहद महत्वपूर्ण कहानी की प्रस्तुति के लिए निर्देशक की क्षमता की प्रशंसा की। जूरी के अनुसार, “वन के देवता की अपनी संस्कृति में निहित यह फिल्म, संस्कृति और सामाजिक स्थिति के बावजूद दर्शकों तक अपनी पहुंच बनाती है।” शेट्टी को दिए गए प्रतिष्ठित पुरस्कार में रजत मयूर पदक, 15 लाख रुपयेऔर एक प्रमाण पत्र शामिल है।

 

स्पेशल जूरी पुरस्कार के लिए ऋषभ शेट्टी ने किया आभार व्यक्त
सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने बुधवार को जारी एक बयान में कहा कि ऋषभ शेट्टी ने अत्यधिक आभार व्यक्त करते हुए कहा, “इतने प्रतिष्ठित मंच पर मिले स्‍नेह और सम्मान से मैं कृतज्ञ हूं।” अपने फिल्म निर्माण दर्शन को साझा करते हुए शेट्टी ने कहा, “मैं अपनी फिल्मों को स्‍वयं को अभिव्‍यक्‍त करने देने में विश्वास करता हूं; जितना कम बोला जाए, सफलता उतनी ही अधिक होगी।” 'कांतारा' से दर्शक जिस प्रकार जुड़ रहे हैं, उससे फिल्‍म के शिल्प के प्रति उनकी विनम्रता और समर्पण जाहिर होता है।

 

भारतीय सिनेमा हो गया है वैश्विक
इस अवसर पर भारतीय सिनेमा के वैश्विक विस्तार का उल्‍लेख करते हुए शेट्टी ने जोर देकर कहा, “भारतीय सिनेमा वास्तव में वैश्विक हो गया है। यह भारत से सृजित होने वाली बेमिसाल सामग्री का प्रत्यक्ष परिणाम है।” शेट्टी ने इस फिल्म की भाषाई बाधाओं को पार करने की इसकी क्षमता को रेखांकित किया। उन्होंने 'कांतारा' को मिली जबरदस्त प्रतिक्रिया को इस समावेशिता का प्रमाण बताया। उन्होंने आगे कहा कि  शेट्टी ने कहा, “मेरी फिल्में उन कहानियों और भावनाओं का विस्तार हैं जो व्यक्तियों के रूप में हमें बांधती हैं।”

 

कांतारा 
दरअसल कुछ फिल्मों को इसी हिसाब से बनाया जाता है कि वो हिंदी से लेकर साउथ इंडियन बॉक्स ऑफिस पर भी कमाई कर सकें। जबकि कुछ फिल्मों को इस हिसाब से नहीं बनाया जाता कि वो पैन इंडिया मूवी हों। बावजूद उसके, अपनी कहानी और उसे पेश करने के तरीके से वो खुद ब खुद पैन इंडिया मूवी का दर्जा हासिल कर लेती हैं। फिर भले ही वो बहुत कम बजट में बनकर तैयार हुई हों। स्पेशल जूरी पुरस्कार से सम्मानित कन्नड़ भाषा में बनी 'कांतारा' ऐसी ही मूवी है। कांतारा को 15 करोड़ रुपए के बजट में बनाया गया था और ये सिनेमाघरों में 50 दिनों तक देखी गई थी। फिल्म ने 400 करोड़ रुपए का कलेक्शन किया था। अब इसके दूसरे पार्ट को 125 करोड़ रुपए की लागत से बनाया जा रहा है। कांतारा, चैप्टर 1 का फर्स्ट लुक रिलीज होते हर तरफ धमाल मचा रही है। अब इसके दूसरे सीक्वल की शूटिंग जारी है। हाल ही में मेकर्स की ओर से फिल्म का पहला टीजर रिलीज किया गया है और अब लोगों में इसको लेकर काफी उत्सुकता बनी हुई हैं। बात दें कि फिल्म के टीजर को 7 भाषाओं में रिलीज़ किया गया है। जिसे फिल्म के आधिकारिक सोशल मीडिया चैनल एक्स (x) पर भी साझा किया गया है। एक पोस्ट में कहा गया कि कांतारा का फ़र्स्ट लुक टीजर ट्रैक सुनें, अब यह 7 भाषाओं में आपके पसंदीदा संगीत प्लेटफ़ॉर्म पर स्ट्रीम हो रहा है। 

https://x.com/KantaraFilm/status/1729031993521066145?s=20

https://x.com/KantaraFilm/status/1729747097082384505?s=20

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 709539
आखरी अपडेट: 16th Apr 2024