प्रतिक्रिया | Friday, June 14, 2024

उत्तर प्रदेश की 7 महिलाएं संसद में करेंगी नेतृत्व, 80 महिला उम्मीदवारों ने लड़ा था चुनाव

देश की सबसे बड़ी पंचायत में इस बार 7 महिला सांसद यूपी का प्रतिनिधित्व करेंगी। इनमें से सपा की सर्वाधिक 5 महिला सांसद चुनी गई हैं। इस बार प्रदेश की 80 सीटों पर कुल 851 प्रत्याशियों ने अपनी किस्मत आजमाई थी। इसमें 80 महिला उम्मीदवार शामिल थी। प्रमुख दलों में भाजपा ने 7, सपा ने 10, कांग्रेस ने एक, अपना दल (एस) ने दो और बसपा ने तीन महिला प्रत्याशियों को टिकट दिया था। वहीं, 2019 के लोकसभा चुनाव में यूपी से 11 महिला सांसद चुनी गई थीं।

2024 में 7 महिला सांसद करेंगी यूपी का प्रतिनिधित्व

देश की संसद को सर्वाधिक 80 सांसद देने वाले उत्तर प्रदेश का देश की संसद में 7 महिला सांसद प्रतिनिधित्व करेंगी। सपा से 5, बीजेपी और अपना दल से एक-एक महिला सांसद विजयी हुई हैं। इनमें मथुरा से हेमामालिनी (बीजेपी), मीरजापुर से अनुप्रिया पटेल (अपना दल सोनेलाल), मैनपुरी से डिम्पल यादव (सपा), बांदा से कृष्णा पटेल (सपा), मछलीशहर से प्रिया सरोज (सपा), मुरादाबाद से रुचिवीरा (सपा) और कैराना से इकरा हसन (सपा) शामिल हैं।

एनडीए ने 9 महिला प्रत्याशियों को दिया टिकट

एनडीए ने यूपी में नौ महिला प्रत्याशी उतारी । जिसमें सात बीजेपी और दो सहयोगी अपना दल सोनेलाल की टिकट पर मैदान में अपनी किस्मत आजमाने उतरीं। बीजेपी की टिकट पर मथुरा से हेमा मालिनी, धौरहरा से रेखा वर्मा, अमेठी से स्मृति ईरानी, सुलतानपुर से मेनका गांधी, फतेहपुर से साध्वी निरंजन ज्योति, बाराबंकी से राजरानी रावत, लालगंज से नीलम सोनकर मैदान में थी। वहीं अपना दल सोनेलाल की टिकट पर मीरजापुर से अनुप्रिया पटेल और राबर्ट्सगंज से रिंकी कोल मैदान में उतरी।

सपा ने 10 और कांग्रेस ने एक महिला प्रत्याशी उतारा

समाजवादी ने 11 महिला प्रत्याशियों को टिकट दिया। इसमें कैराना से इकरा हसन, मुरादाबाद से रुचि वीरा, मेरठ से सुनीता वर्मा, मैनपुरी से डिंपल यादव, हरदोई से ऊषा वर्मा, उन्नाव से अन्नू टंडन, गोंडा से श्रेया वर्मा, गोरखपुर से काजल निषाद, मछलीशहर से प्रिया सरोज और बांदा से कृष्णा पटेल शामिल हैं। गाजियाबाद से कांग्रेस ने गाजियाबाद से डॉली शर्मा को टिकट दिया।

बसपा ने उतारे 3 महिला प्रत्याशी

बहुजन समाज पार्टी ने सिर्फ तीन महिला प्रत्याशियों पर विश्वास जताया था, हालांकि इनमें से किसी को भी जीत हासिल नहीं हुई। इसमें आगरा से पूजा अमरोही, इटावा से सारिका सिंह बघेल और लालगंज से इंदू चौधरी है।

2019 में यूपी से बनीं थी 11 महिला सांसद

लोकसभा चुनाव 2019 में यूपी से 11 महिला सांसद बनी थीं, जिसमें हेमा मालिनी मथुरा, केशरी देवी पटेल फूलपुर, मेनका गांधी सुलतानपुर, रेखा वर्मा धौरहरा, रीता बहुगुणा जोशी इलाहाबाद, साध्वी निरंजन ज्योति फतेहपुर, संघ मित्रा मौर्य बदायूं, स्मृति ईरानी अमेठी, सोनिया गांधी रायबरेली, संगीता आजाद लालगंज, अनुप्रिया पटेल मिर्जापुर से जीती थीं। 2023 में मैनपुरी सीट पर हुए उपचुनाव में सपा से डिंपल यादव जीतकर दिल्ली पहुंची थी।

11 सांसद 2014 में

बता दें कि 2014 में यूपी से अनुप्रिया पटेल- मिर्जापुर, हेमा मालिनी- मथुरा, डिम्पल यादव- कन्नौज, कृष्णा राज- शाहजहांपुर, मेनका गांधी- पीलीभीत, प्रियंका सिंह रावत- बाराबंकी, रेखा- धौरहरा, साध्वी निरंजन ज्योति- फतेहपुर, सावित्री बाई- बहराइच, सोनिया गांधी- रायबरेली, उमा भारती- झांसी से जीती थीं।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 3552776
आखरी अपडेट: 14th Jun 2024