प्रतिक्रिया | Monday, June 24, 2024

आदित्य एल-1 की नई कामयाबी, सूर्य गतिविधियों को किया कैद, भेजी तस्वीरें

 

2 सितंबर 2023 को अंतरिक्ष यान पीएसएलवी-सी 57 से आदित्य एल-1 का सफल प्रक्षेपण किया गया था। इतने दिनों बाद आदित्य-एल-1 मिशन ने एक और कामयाबी हासिल की है। मिशन के एसयूआईटी और वीईएलसी उपकरणों ने मई के दौरान सूर्य की गतिशील गतिविधियों को कैद किया है।

सूरज में उठे सौर तूफान को कैमरे में किया कैद

सोमवार को इसरो ने आदित्य एल वन की तस्वीरें साझा करते हुए कहा कि कोरोनल मास इजेक्शन से जुड़ी कई एक्स-क्लास और एम-क्लास फ्लेयर्स दर्ज की गईं, जिससे महत्वपूर्ण भू-चुंबकीय तूफान पैदा हुए। आदित्य एल वन सूरज में हो रही हर हलचल पर नजर रख रहा है। इसी क्रम में सूरज में उठे सौर तूफान को भी अपने कैमरे में कैद किया है। 

 2 सितंबर 2023 को किया गया लॉन्च

उल्लेखनीय है कि भारत का पहला सोलर मिशन ‘आदित्य एल 1’ छह जनवरी को एल 1 पॉइंट की हेलो ऑर्बिट पर पहुंचा दिया गया था। यान को पृथ्वी से लगभग 15 लाख किलोमीटर दूर सूर्य-पृथ्वी प्रणाली के ‘लैग्रेंज प्वाइंट 1’ (एल 1) के आसपास एक प्रभामंडल कक्षा में स्थापित किया गया है। इस मिशन को पिछले साल 2 सितंबर को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा से लॉन्च किया गया था। इस प्रकार  भारतीय वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में लंबी छलांग लगाते हुए इतिहास रच दिया है।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 3972125
आखरी अपडेट: 24th Jun 2024