प्रतिक्रिया | Saturday, July 13, 2024

भारतीय धावक अविनाश साबले ने रविवार को डायमंड लीग 2024 में पुरुषों की 3000 मीटर स्टीपलचेज स्पर्धा में राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ दिया। बताना चाहेंगे अविनाश साबले कुछ ही हफ्तों में पेरिस में अपने दूसरे ओलंपिक खेलों में प्रतिस्पर्धा करने के लिए तैयार हैं। 

8:09.91 सेंकेड में फिनिश लाइन की पार

एशियाई खेलों के चैंपियन ने 8:09.91 सेंकेड में फिनिश लाइन पार की, जो उनके राष्ट्रीय रिकॉर्ड से एक सेकेंड से भी ज्यादा बेहतर है। वे चार्लेटी स्टेडियम में पुरुषों की 3000 मीटर स्टीपलचेज स्पर्धा में छठे स्थान पर रहे। भारत का पिछला राष्ट्रीय रिकॉर्ड 8:11.20 था, जिसे अविनाश साबले ने दो साल पहले बर्मिंघम में राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीतने के लिए बनाया था। 

इथियोपिया के अब्राहम सिमे 8:02.36 के व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ समय के साथ पहले स्थान पर आए। राष्ट्रमंडल खेलों के कांस्य पदक विजेता केन्या के अमोस सेरेम ने भी 8:02.36 का समय लिया, लेकिन फोटो फिनिश में दूसरे स्थान पर रहे।
विश्व चैंपियनशिप 2023 के कांस्य पदक विजेता केन्या के अब्राहम किबिवोत 8:06.70 के समय के साथ तीसरे स्थान पर रहे और उनके बाद ट्यूनीशियाई राष्ट्रीय रिकॉर्ड धारक मोहम्मद अमीन झिनाउई (8:09.41) और न्यूजीलैंड के 1500 मीटर इंडोर विश्व चैंपियन जियोर्डी बीमिश (8:09.64) का स्थान रहा। 

रविवार को पेरिस में 3000 मीटर स्टीपलचेज दौड़ में कुल 17 धावकों ने भाग लिया। यह अविनाश साबले की इस साल की तीसरी 3000 मीटर स्टीपलचेज प्रतियोगिता थी।

पेरिस 2024 ओलंपिक में अविनाश साबले करने वाले हैं भारत का प्रतिनिधित्व 

भारतीय एथलीट ने अपने सत्र की शुरुआत अमेरिका के ऑरलैंडो में पोर्टलैंड ट्रैक फेस्टिवल में दूसरे स्थान पर रहते हुए की, जहां उन्होंने 8:21.85 का समय लिया। उन्होंने पिछले महीने पंचकुला में भारत की अंतर-राज्यीय प्रतियोगिता 8:31.75 के समय के साथ जीती थी। साबले इसी स्पर्धा में पेरिस 2024 ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले हैं।

ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके भारत के किशोर जेना 10 सदस्यीय भाला फेंक स्पर्धा में पहले प्रयास में 78.10 मीटर के सर्वश्रेष्ठ प्रयास के साथ आठवें स्थान पर रहे।

जेना ने अपने दूसरे प्रयास में 78.05 मीटर की दूरी तय की, लेकिन अपने अगले दो प्रयासों में वैध थ्रो दर्ज नहीं कर सके। उनका पांचवां प्रयास 76.57 मीटर की दूरी पर गिरा। केवल शीर्ष तीन को ही छठा थ्रो करने का मौका मिला। 

किशोर जेना के लिए यह इस साल का दूसरा डायमंड लीग इवेंट था। पिछले साल एशियाई खेलों में रजत जीतने के लिए 87.54 मीटर का अपना सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत प्रदर्शन करने वाले जेना 76.31 मीटर थ्रो दर्ज करने के बाद दोहा में नौवें स्थान पर रहे। 

यूरोपीय खेलों के चैंपियन जर्मनी के जूलियन वेबर 85.91 मीटर के प्रयास के साथ पहले स्थान पर रहे। दो बार के विश्व चैंपियन ग्रेनेडा के एंडरसन पीटर्स 85.19 मीटर के साथ दूसरे स्थान पर रहे और उनके बाद चेकिया के टोक्यो 2020 के रजत पदक विजेता जैकब वडलेज ने 85.04 मीटर का प्रयास किया। 

विश्व चैंपियनशिप के रजत पदक विजेता और राष्ट्रमंडल खेलों के मौजूदा चैंपियन पाकिस्तान के अरशद नदीम 84.21 मीटर की दूरी के साथ चौथे स्थान पर रहे। यह नदीम की इस वर्ष की पहली प्रतियोगिता थी।

इस साल की शुरुआत में, जेना ने भारत में फेडरेशन कप में 75.49 मीटर के साथ पांचवां स्थान हासिल किया और पिछले महीने पंचकूला में अंतर-राज्यीय चैंपियनशिप में 80.84 मीटर के अपने सीजन का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए तीसरा स्थान हासिल किया। 

मौजूदा ओलंपिक चैंपियन नीरज चोपड़ा ने पेरिस डायमंड लीग में प्रतिस्पर्धा नहीं की

मौजूदा ओलंपिक चैंपियन नीरज चोपड़ा ने पेरिस डायमंड लीग में प्रतिस्पर्धा नहीं की। डायमंड लीग विश्व एथलेटिक्स द्वारा आयोजित शीर्ष स्तरीय ट्रैक और फील्ड प्रतियोगिताओं की एक वार्षिक श्रृंखला है। पेरिस में हुई बैठक डायमंड लीग 2024 श्रृंखला का आठवां चरण था। 

एथलीट प्रत्येक डायमंड लीग चरण में अपने प्रदर्शन के आधार पर अंक अर्जित करते हैं और प्रत्येक स्पर्धा में शीर्ष एथलीट फाइनल के लिए क्वालीफाई करते हैं। फाइनल में प्रत्येक स्पर्धा का विजेता डायमंड लीग ट्रॉफी हासिल करता है। इस साल का फाइनल सितंबर में बेल्जियम के ब्रुसेल्स में होगा। (इनपुट-हिंदुस्थान समाचार)

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 4790180
आखरी अपडेट: 13th Jul 2024