प्रतिक्रिया | Wednesday, May 22, 2024

इंडियन नेवी की बड़ी कामयाबी, पनडुब्बी रोधी सुपरसोनिक मिसाइल का सफल परीक्षण

 

भारतीय नौसेना ने समुद्र में अपनी ताकत बढ़ाने के लिए सुपरसोनिक मिसाइल-असिस्टेड रिलीज ऑफ टॉरपीडो (SMART) सिस्टम का सफल परीक्षण किया है। SMART प्रणाली का ओडिशा के तट पर डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप से लगभग 0830 बजे सफलतापूर्वक उड़ान परीक्षण किया गया। स्मार्ट एक अगली पीढ़ी की मिसाइल-आधारित हल्के टारपीडो वितरण प्रणाली है, जिसे भारतीय नौसेना की पनडुब्बी रोधी युद्ध क्षमता को हल्के टारपीडो की पारंपरिक सीमा से कहीं अधिक बढ़ाने के लिए डीआरडीओ द्वारा डिजाइन और विकसित किया गया है।

सुपरसोनिक मिसाइल सिस्टम की खासियत
इस कनस्तर-आधारित मिसाइल प्रणाली में कई उन्नत सब सिस्टम शामिल हैं। जिनमें दो चरणीय सॉलिड प्रोपल्शन सिस्टम, इलेक्ट्रोमैकेनिकल एक्टुएटर सिस्टम , नेविगेशन सिस्टम आदि शामिल हैं।
इलेक्ट्रोमैकेनिकल एक्चुएटर प्रणाली, सटीक जड़त्वीय नेविगेशन प्रणाली आदि। यह प्रणाली पैराशूट-आधारित रिलीज प्रणाली के साथ पेलोड के रूप में उन्नत हल्के वजन वाले टारपीडो को ले जाती है। मिसाइल को ग्राउंड मोबाइल लॉन्चर से लॉन्च किया गया था। इस परीक्षण में सममित पृथक्करण, इंजेक्शन और वेग नियंत्रण जैसे कई अत्याधुनिक तंत्रों को शामिल किया गया है। यह मिसाइल सिस्टम लंबी दूरी के लक्ष्यों को भेदने में सक्षम है। SMART मिसाइल को युद्धक जहाज के साथ ही तटीय इलाकों से भी लॉन्च किया जा सकता है।

रक्षा मंत्री ने कहा-नौसेना की ताकत और बढ़ेगी
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने SMART के सफल उड़ान-परीक्षण पर DRDO और उद्योग भागीदारों को बधाई दी है। उन्होंने कहा, ”प्रणाली के विकास से हमारी नौसेना की ताकत और बढ़ेगी।” रक्षा अनुसंधान एवं विकास विभाग के सचिव और डीआरडीओ के अध्यक्ष डॉ. समीर वी कामत ने पूरी स्मार्ट टीम के सहक्रियात्मक प्रयासों की सराहना की और उत्कृष्टता के पथ पर आगे बढ़ने का आग्रह किया।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 1867569
आखरी अपडेट: 22nd May 2024