प्रतिक्रिया | Saturday, May 18, 2024

परिवर्तन चिंतन-II की अध्यक्षता करेंगे सीडीएस अनिल चौहान, सशस्त्र बलों के लिए आवश्यक सुधारों पर किया जाएगा विचार

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल अनिल चौहान 9 से 10 मई को सशस्त्र बलों की संयुक्तता एवं एकीकरण पर आधारित दो दिन के सम्मेलन परिवर्तन चिंतन-II की अध्यक्षता करेंगे। सशस्त्र बलों की संयुक्तता और एकीकरण के माध्यम से परिवर्तन की दिशा में वांछित अंतिम लक्ष्य प्राप्त करने के लिए आवश्यक सुधारों पर विचार किया जाएगा। परिवर्तन चिंतन सम्मेलन का उद्देश्य एकीकरण प्रयासों को बढ़ावा देने के लिए नए विचार, पहल और सुधार पैदा करना है।

रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में बताया, भारतीय सशस्त्र बल निकटस्थ रूप से एक साथ मिलकर कार्रवाई करने को ध्यान में रखते हुए तीनों सेनाओं के बीच चल रही संयुक्तता तथा एकीकरण पहल को और आगे बढ़ाने के लिए प्रयासरत हैं। चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल अनिल चौहान 9 से 10 मई को सशस्त्र बलों की संयुक्तता एवं एकीकरण पर आधारित दो दिन के सम्मेलन परिवर्तन चिंतन-II की अध्यक्षता करेंगे। यह देश के सभी तीनों-सेना संस्थानों के प्रमुखों के लिए आयोजित होने वाला एक प्रमुख सम्मेलन है, जिसका उद्देश्य नवीनतम सुधारात्मक विचारों एवं गतिविधियों को विस्तार प्रदान करना है।

मंत्रालय ने बताया कि चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल अनिल चौहान की अध्यक्षता में 09-10 मई 2024 को नई दिल्ली में दो दिनों की अवधि में परिवर्तन चिंतन-II संचालित करने की योजना बनाई गई है। मुख्य तौर पर चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी की सभी उप-समितियों के सदस्य व चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ, स्थायी अध्यक्ष और तीनों सेनाओं के प्रमुखों के रूप में कई क्षेत्रों में हुई प्रगति की समीक्षा करेंगे। इसके अलावा, सशस्त्र बलों की संयुक्तता और एकीकरण के माध्यम से परिवर्तन की दिशा में वांछित अंतिम लक्ष्य प्राप्त करने के लिए आवश्यक सुधारों पर विचार किया जाएगा।

बता दें कि इससे पहले परिवर्तन चिंतन सम्मेलन 8 अप्रैल 2024 को आयोजित किया गया था। सीडीएस जनरल अनिल चौहान ने सशस्त्र बलों के लिए संयुक्त संस्कृति विकसित करने की जरूरत पर जोर दिया था।

 

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 1710710
आखरी अपडेट: 18th May 2024