प्रतिक्रिया | Tuesday, June 18, 2024

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने हिंसा प्रभावित किर्गिस्तान में फंसे मध्य प्रदेश के छात्रों से मोबाइल फोन के जरिए की बात

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने हिंसा प्रभावित किर्गिज गणराज्य में फंसे अपने राज्य के छात्रों से मोबाइल फोन के जरिए बात की। मुख्यमंत्री ने छात्रों को सुरक्षा का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि हम किर्गिस्तान सरकार के साथ लगातार संपर्क में हैं। बता दें, किर्गिस्तान में हो रही ‎हिंसा के बीच उज्जैन के कुछ स्टूडेंट्स वहां फंसे‎ हुए हैं, उन्होंने पीएम मोदी और मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव से रेस्क्यू की गुहार लगाई है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा, “मेरी जानकारी में लाया गया कि किर्गिस्तान में जो बच्चें मेडिकल की पढ़ाई करने गए हैं, वहां पाकिस्तान के लोगों का स्थानीय लोगों के साथ झगड़ा हुआ और उसमें पाकिस्तान के बच्चें घायल हुए हैं। इस वजह से मैंने अभी वहां भारत के बच्चों से बातचीत की हैं । वे सभी सुरक्षित हैं। हम किर्गिस्तान सरकार के साथ लगातार संपर्क में हैं।”

सीएम मोहन यादव ने किर्गिस्तान में पढ़ रहे छात्रों से की बात

सीएम मोहन यादव ने उज्जैन, मंदसौर, नीमच और अन्य जगहों से बच्चों से बात की हैं, वे वहां सुरक्षित हैं। मोहन यादव ने मीडिया से बातचीत में कहा कि भारत सरकार किर्गिस्तान सरकार के संपर्क में है, वहां लगभग 30 हजार से ज्यादा बच्चें पढ़ रहे हैं। एमपी के 12 सौ से ज्यादा बच्चें वहां पढ़ रहे हैं। तनाव के बीच चिंता स्वाभाविक है, उन्होंने कहा कि वो सब हॉस्टल में हैं, पुलिस का पूरा इंतजाम हैं। लगातार संपर्क में रहने के बाद यह निर्णय लिया गया कि बच्चों की परीक्षा कराने के बाद ही उनकों वहां से बुलवाया जाये। बदले हालात में हिम्मत से काम लेना होता है और बच्चों की जिंदगी का भी सवाल है। उन्होंने कहा कि हमने वहां के प्रशासन से बात की है, इनकी परीक्षा सही तरीके से, सही समय पर सम्पन्न करा दी जाये और सुरक्षा का भी ध्यान रखा जाए। मोहन यादव ने कहा कि सरकार भी 24 घंटे संपर्क में है, किसी को कोई तकलीफ नहीं हैं। बहुत जल्द हालात सामान्य होने की उम्मीद है।

मोहन यादव ने एक्स पर कहा

एमपी के सीएम मोहन यादव ने अपने सोशल मीडिया हैंडल एक्स पर भी इस बारे में जानकारी साझा की है। उन्होंने एक्स पर कहा, “किर्गिस्तान में देश के हजारों बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं, जिसमें हमारे मध्यप्रदेश के छात्र-छात्राएं भी हैं। संतोष की बात है कि सभी बच्चे सुरक्षित हैं। मैं सतत भारत सरकार के संपर्क में हूँ, किर्गिस्तान में स्थिति नियंत्रण में है। अभिभावकों से आग्रह है कि आप भी चिंता न करें। भारत सरकार के माध्यम से आदरणीय प्रधानमंत्री श्री @narendramodi जी के नेतृत्व में हम अपने सभी बच्चों को सुरक्षित वापस लायेंगे।”

छात्र भारत वापस आना ‎चाहते हैं

वहीं दूसरी ओर मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार किर्गिस्तान में हो रही ‎हिंसा के बीच उज्जैन के 10 से ज्यादा स्टूडेंट्स वहां फंसे‎ हुए हैं। वे इतने डरे और ‎सहमे हुए हैं कि किसी भी तरह ‎जल्द से जल्द भारत वापस आना ‎चाहते हैं। उन्होंने पीएम मोदी और सीएम डॉ मोहन यादव से रेस्क्यू की गुहार लगाई है। दरअसल किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक और आसपास के इलाकों में भारतीय, पाकिस्तानी और बांग्लादेशी स्टूडेंट्स को खासतौर पर निशाना बनाया जा रहा है। भारत से कई स्टूडेंट्स मेडिकल की पढ़ाई के लिए किर्गिस्तान में हैं।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 3698702
आखरी अपडेट: 18th Jun 2024