प्रतिक्रिया | Monday, April 22, 2024

24/07/23 | 4:08 pm

EPF पर 8.15% ब्याज को वित्त मंत्री की मंजूरी, जल्द आएगा खाते में पैसा

केंद्र सरकार ने कर्मचारियों के पीएफ पर मिलने वाले ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर दी है। सरकार ने वित्त वर्ष 2022-23 के लिए कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) खाते में जमा पर 8.15% ब्याज दर की मंजूरी दी है। ईपीएफओ ने 28 मार्च को ईपीएफ जमा पर 8.10 फीसदी के बजाय 8.15 फीसदी की दर से ब्याज देने का फैसला लेकर सरकार को प्रस्ताव भेजा था। इस तरह ईपीएफओ ने अपने 6 करोड़ से अधिक सदस्यों के लिए ब्याज में बढ़ोतरी की है।

ईपीएफओ में 8.15% मिलेगा ब्याज 

ईपीएफओ ने आदेश में अपने क्षेत्रीय कार्यालयों को सदस्यों के खातों में वित्त वर्ष 2022-23 के लिए 8.15 फीसदी की दर से ब्याज जमा करने के लिए कहा है। ये आदेश ब्याज दर पर वित्त मंत्रालय की मंजूरी के बाद आया। अधिसूचना जारी होने के बाद ही ईपीएफ सदस्यों के खाते में नई ब्याज दर के हिसाब से राशि जमा की जाएगी। 

 

ईपीएफओ ने मार्च 2022 में वित्त वर्ष 2021-22 के लिए ईपीएफ जमा पर ब्याज दर को घटाकर 8.10 फीसदी कर दिया था। यह वित्त वर्ष के बाद से सबसे कम ब्याज दर थी, जब ईपीएफ ब्याज दर आठ फीसदी थी।

बचत पर अधिक मिलेंगे पैसे

सर्कुलर में यह भी कहा गया है कि ईपीएफ मेंबर्स के खाते में ब्याज का पैसा जल्द उनके खाते में ट्रांसफर कर दिया जाए। मार्च में ही ईपीएफओ ने करीब 7 करोड़ खाताधारकों को वित्त वर्ष 2022-23 के लिए 8.15 फीसदी ब्याज देने का ऐलान किया था। बता दें कि पीएफ खाताधारकों के खाते में जमा रकम को ईपीएफओ कई जगहों पर निवेश करता है। इस निवेश से होने वाली कमाई का एक हिस्सा खाताधारकों को ब्याज के रूप में दिया जाता है।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 863626
आखरी अपडेट: 22nd Apr 2024