प्रतिक्रिया | Tuesday, June 18, 2024

आंध्र प्रदेश के तट पर स्थित श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से आज मंगलवार को ‘अग्निबाण’ रॉकेट का पहला परीक्षण प्रक्षेपण किया जाएगा। कई मायनों में यह अपने आप में बेहद खास रहने वाला है। 

https://x.com/DDNewsHindi/status/1795250383780278551

दुनिया का पहला सिंगल पीस 3डी प्रिंटेड सेमी-क्रायोजेनिक रॉकेट इंजन

दरअसल, यह दुनिया का पहला सिंगल पीस 3डी प्रिंटेड सेमी-क्रायोजेनिक रॉकेट इंजन है जो 100 किलोग्राम का पेलोड 700 किलोमीटर की ऊंचाई तक अपने साथ ले जा सकता है।  

बता दें ‘अग्निबाण’ सब ऑर्बिटल टेक्नोलॉजिकल डेमोंस्ट्रेटर ‘अग्निकुल’ के पेंटेटेड अग्निलेड इंजन द्वारा संचालित एक एकल चरण लॉन्च वाहन है। 

विशेषताएँ:

– यह एक अनुकूलन प्रक्षेपण यान है जिसे एक चरण में लॉन्च किया जा सकता है। रॉकेट करीब 18 मीटर लंबा है और इसका द्रव्यमान 14,000 किलोग्राम है।

– ‘अग्निबाण’ पांच अलग-अलग कॉन्फ़िगरेशन में 100 किलोग्राम तक के पेलोड को 700 किमी की ऊंचाई तक ले जाने में सक्षम है।

– यह निम्न और उच्च झुकाव वाली दोनों कक्षाओं तक पहुंच सकता है। 

– निजी एयरोस्पेस कंपनी ‘अग्निकुल’ कॉसमॉस ने इसे विकसित किया है। 

– अग्निबाण सब ऑर्बिटल टेक्नोलॉजिकल डेमोंस्ट्रेटर ‘अग्निकुल’ के पेंटेटेड अग्निलेड इंजन द्वारा संचालित एक एकल चरण लॉन्च वाहन है।

– अग्निबाण रॉकेट को 10 से अधिक विभिन्न लॉन्च पोर्ट से लॉन्च करने के लिए डिजाइन किया गया है। 

– कई लॉन्च पोर्ट के साथ इसकी अनुकूलता सुनिश्चित करने के लिए, अग्निकुल ने ‘धनुष’ नामक एक लॉन्च पेड स्टल बनाया है जो रॉकेट की सभी कॉन्फ़िगरेशन में इसकी गतिशीलता को सपोर्ट करेगा।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 3706716
आखरी अपडेट: 18th Jun 2024