प्रतिक्रिया | Tuesday, June 18, 2024

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आने वाले वर्षों में भारत वैश्विक स्तर पर इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग का हब बनने को तैयार है। यह बात इंडिया सेल्युलर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन (ICEA) के चेयरमैन पंकज मोहिन्द्रू ने एक समाचार एजेंसी को कही है। 

पिछले एक दशक में मोबाइल फोन इंडस्ट्री में हुई काफी तेज ग्रोथ

महज इतना ही नहीं, उन्होंने यह भी कहा कि पिछले एक दशक में मोबाइल फोन इंडस्ट्री में काफी तेज ग्रोथ देखने को मिली है। 

भारत में कुल 50 अरब फोन मैन्युफैक्चरिंग हुए

आगे जोड़ते हुए उन्होंने यह भी बताया कि इस दौरान भारत में कुल 50 अरब फोन मैन्युफैक्चरिंग हुए। इसने देश में इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग की एक मजबूत नींव स्थापित की है। 

ICEA के बारे में…

ज्ञात हो, इंडिया सेल्युलर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन (ICEA) मोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक्स उद्योग का शीर्ष उद्योग निकाय है, जिसमें निर्माता, ब्रांड मालिक, प्रौद्योगिकी प्रदाता, वीएएस एप्लिकेशन और समाधान प्रदाता, वितरक और मोबाइल हैंडसेट और इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरणों की खुदरा श्रृंखलाएं शामिल हैं। इसका कार्य भारत में इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण के लिए एक मजबूत इको-सिस्टम बनाना और देश को एक विशाल वैश्विक लीडर बनाना है। 

ICEA जिन कुछ कार्यक्षेत्रों में सेवा दे रहा है और गहरी विनिर्माण दक्षताओं और क्षमताओं के निर्माण में मदद कर रहा है उनमें उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स, दूरसंचार और आईटी उपकरण, स्मार्ट कृषि, रक्षा इलेक्ट्रॉनिक्स, एलईडी, ऑटोमोटिव इलेक्ट्रॉनिक्स, आईटी हार्डवेयर, उभरती हुई प्रौद्योगिकियां, आईओटी, एक्वा इलेक्ट्रॉनिक्स इत्यादि शामिल हैं।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 3700681
आखरी अपडेट: 18th Jun 2024