प्रतिक्रिया | Sunday, May 19, 2024

12/04/24 | 7:38 pm

साइबर क्राइम की रैंकिंग में भारत 10वें पायदान पर; रूस सबसे आगे

दुनियाभर के साइबर क्राइम एक्सपर्ट्स की एक नई र‍िसर्च के मुताब‍िक भारत साइबर अपराध के मामले में 10वें स्थान पर है। इसमें एडवांस फीस पेमेंट से जुड़ी धोखाधड़ी को सबसे आम क्राइम बताया गया।

वर्ल्ड साइबर क्राइम इंडेक्स जारी इंडेक्स में 100 देशों को शामिल किया गया।इसमें सबसे आगे रूस, दूसरे नंबर पर यूक्रेन और तीसरे पायदान पर चीन रहा। अमेरिका चौथे स्थान पर रहा। रिपोर्ट में इसमें रैंसमवेयर, क्रेडिट कार्ड चोरी और फ्रॉड समेत अन्य साइबर अपराध की अलग-अलग कैटेगरी के मुताबिक मुख्य हॉटस्पॉट की पहचान की गई।

इस आधार पर तैयार की गई सूची

हालांकि, इसमें मामलों की संख्या नहीं बताई गई। रूस का वर्ल्ड साइबर क्राइम इंडेक्स स्कोर (WCI स्कोर) 100 में से 58.39 रहा, यूक्रेन का 36.44 और चीन का 27.86 रहा जबकि भारत का WCI स्कोर 6.13 रहा। पीएलओएस वन जर्नल में प्रकाशित शोध के अनुसार, उत्तर कोरिया सातवें, ब्रिटेन आठवें और ब्राजील नौवें स्थान पर है।

ग्लोबल सर्वे कर जारी हुआ रैंकिंग

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ न्यू साउथ वेल्स के एक्सपर्ट्स ने साइबर क्राइम पर ग्लोबल स्टडी की। इसके आधार पर इंडेक्स तैयार किया। स्टडी में पांच मुख्य साइबर अपराध श्रेणियों पर फोकस किया गया। इन एक्सपर्ट्स ने उन देशों की पहचान की जिन्हें वे हर साइबर अपराध श्रेणी का प्राइमरी सोर्स मानते हैं। इसके अलावा उन्होंने हर देश को साइबर क्राइम एक्टिविटी के प्रभाव के आधार पर रैंक किया।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 1748378
आखरी अपडेट: 19th May 2024