प्रतिक्रिया | Monday, July 15, 2024

भारतीय टेनिस खिलाड़ी सुमित नागल ने पेरिस ओलंपिक के लिए किया क्वालीफाई

शीर्ष वरीयता प्राप्त भारतीय खिलाड़ी सुमित नागल ने पेरिस ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर लिया है। नागल ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में कहा, “मुझे यह बताते हुए बेहद खुशी हो रही है कि मैंने आधिकारिक तौर पर 2024 पेरिस ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर लिया है। यह मेरे लिए एक यादगार पल है क्योंकि ओलंपिक मेरे दिल में एक खास जगह रखता है।”

नागल वैकल्पिक खिलाड़ियों में से एक थे, लेकिन उनसे बेहतर रैंकिंग वाले खिलाड़ियों के हटने की संख्या बढ़ने के साथ, भारतीय खिलाड़ी का 4 जुलाई को अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ द्वारा आधिकारिक प्रवेश सूची जारी किए जाने पर जगह बनाना पक्का है। पेरिस ओलंपिक में, टेनिस 27 जुलाई से 4 अगस्त तक रोलांड गैरोस में खेला जाएगा, जहाँ फ्रेंच ओपन का आयोजन होता है।

एकल स्पर्धा में जगह बनाने वाले दूसरे भारतीय खिलाड़ी

26 वर्षीय नागल लिएंडर पेस (1992-2000) के बाद ग्रीष्मकालीन खेलों के लगातार संस्करणों में एकल स्पर्धा में जगह बनाने वाले केवल दूसरे भारतीय खिलाड़ी हैं। पेस ने 1996 में अटलांटा ओलंपिक में कांस्य पदक जीता था, जो इस आयोजन में भारत का दूसरा व्यक्तिगत पदक था।

नागल ने टोक्यो ओलंपिक में पुरुष एकल में भी भाग लिया था, जहां वह दूसरे दौर में दूसरे वरीयता प्राप्त रूसी डेनियल मेदवेदेव से हार गए थे। नागल के लिए यह शानदार सीजन रहा है। भारतीय खिलाड़ी ने साल की शुरुआत ऑस्ट्रेलियन ओपन के मुख्य ड्रॉ के लिए क्वालीफाई करके की, जहां उन्होंने शुरुआती दौर में 31वीं वरीयता प्राप्त कजाख अलेक्जेंडर बुब्लिक को हराया। वह 35 साल में किसी स्लैम में वरीयता प्राप्त खिलाड़ी को हराने वाले पहले भारतीय पुरुष बन गए।

इसके बाद उन्होंने चेन्नई ओपन एटीपी चैलेंजर जीतकर एटीपी रैंकिंग में शीर्ष 100 में जगह बनाई। वह मोंटे कार्लो मास्टर्स में मुख्य ड्रॉ में जीत दर्ज करने वाले पहले भारतीय पुरुष भी बने, उन्होंने पहले राउंड में इटली के माटेओ अर्नाल्डी को हराया। नागल ने फ्रेंच ओपन में पदार्पण किया और विंबलडन में भी मुख्य ड्रॉ में खेलने के लिए तैयार हैं।

हाल ही में, भारतीय ने जर्मनी के हीलब्रॉन में चैलेंजर टूर पर अपना छठा खिताब जीता। इस परिणाम ने उन्हें 10 जून को एटीपी रैंकिंग में 77वें स्थान पर पहुंचा दिया, जो पेरिस के लिए योग्यता की कट-ऑफ तिथि थी, और उन्हें वैकल्पिक खिलाड़ियों में से एक बना दिया। उन्होंने उस खिताब के बाद अगले सप्ताह इटली के पेरुगिया में उपविजेता स्थान हासिल किया और 71वें स्थान पर पहुंच गए, जो 1973 में रैंकिंग की कम्प्यूटरीकृत प्रणाली की शुरुआत के बाद से किसी भारतीय पुरुष द्वारा हासिल की गई संयुक्त चौथी सर्वोच्च रैंकिंग है।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 4866718
आखरी अपडेट: 15th Jul 2024