प्रतिक्रिया | Tuesday, April 23, 2024

02/11/23 | 8:46 am

IRCTC के साथ रेलवे शुरू करेगा ‘नॉर्थ ईस्ट डिस्कवरी’ टूर, 16 नवंबर को दिल्ली से चलेगी विशेष पर्यटक ट्रेन 

भारतीय रेलवे ने भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (IRCTC) के साथ साझेदारी में ‘नॉर्थ ईस्ट डिस्कवरी’ टूर शुरू किया है। इसी क्रम में पूर्वोत्तर राज्यों के अनछुए स्थानों पर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आगामी 16 नवंबर को दिल्ली से विशेष पर्यटक ट्रेन रवाना होगी।  

सफदरजंग रेलवे स्टेशन से रवाना होगी ट्रेन

भारत गौरव डीलक्स एसी टूरिस्ट ट्रेन टूर के तहत ट्रेन 16 नवंबर को दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से अपनी यात्रा शुरू करेगी।

इन जगहों को किया जाएगा कवर 

रेल मंत्रालय के अनुसार 15 दिनों के दौरान ट्रेन असम के गुवाहाटी, शिवसागर, जोरहाट और काजीरंगा, त्रिपुरा के उनाकोटि, अगरतला और उदयपुर, नागालैंड के कोहिमा और दीमापुर तथा मेघालय के शिलांग और चेरापूंजी शहर सहित उत्तर पूर्व के विभिन्न गंतव्यों को कवर करेगी।

14 रात और 15 दिनों का टूर

14 रातों और 15 दिनों के इस टूर के लिए चलने वाली इस ट्रेन का पहला पड़ाव गुवाहाटी है, जहां पर्यटक कामाख्या मंदिर और उसके बाद उमानंद मंदिर तथा ब्रह्मपुत्र नदी में सूर्यास्त क्रूज का भ्रमण करेंगे। इसके बाद यह ट्रेन रात्रिकालीन यात्रा पर नाहरलागुन रेलवे स्टेशन के लिए रवाना होगी, जो अरुणाचल प्रदेश की राजधानी ईटानगर से लगभग 30 किलोमीटर दूर है। 

दर्शनीय विरासत स्थलों की यात्रा भी इस कार्यक्रम का हिस्सा 

यात्रा का अगला पड़ाव शहर शिवसागर है, जो असम के पूर्वी हिस्से में स्थित है और अहोम साम्राज्य की पुरानी राजधानी है। यहां के प्रसिद्ध शिव मंदिर सिवाडोल के साथ-साथ तलातल घर और रंग घर (पूर्व का कोलोसियम) जैसे अन्य विरासत स्थलों की यात्रा भी इस कार्यक्रम का हिस्सा है। इसके अलावा पर्यटकों को जोरहाट में चाय के बागानों और काजीरंगा में रात भर रुकने के साथ-साथ काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में सुबह की जंगल सफारी का अनुभव भी कराया जाएगा। 

इसके बाद यह ट्रेन त्रिपुरा राज्य के लिए प्रस्थान करेगी, जहां मेहमानों को सघन जम्पुई पहाड़ियों में प्रसिद्ध विरासत स्थल उनाकोटि के दर्शनीय स्थलों की यात्रा कराई जाएगी। इसके बाद वे राजधानी अगरतला के लिए आगे बढ़ेंगे, जहां की यात्रा में उन्हें प्रसिद्ध उज्जयंता पैलेस, नीरमहल और उदयपुर में त्रिपुरा सुंदरी मंदिर की यात्रा कराई जाएगी।

स्थानीय स्थलों का भी करेंगे अवलोकन 

त्रिपुरा के बाद यह ट्रेन नागालैंड राज्य को कवर करने के लिए दीमापुर के लिए प्रस्थान करेगी। बदरपुर स्टेशन से लुमडिंग जंक्शन के बीच के प्राकृतिक सौंदर्य से ओतप्रोत इस सुंदर ट्रेन यात्रा का मेहमान सुबह के शुरुआती घंटों में अपनी सीटों से ही लुत्फ उठा सकते हैं। दीमापुर स्टेशन से पर्यटकों को बसों द्वारा कोहिमा ले जाया जाएगा, जहां वे नागा जीवन शैली का अनुभव करने के लिए खोनोमा गांव का भ्रमण करने सहित अन्य स्थानीय स्थलों का भी अवलोकन करेंगे। 

यह ट्रेन लगभग 5,800 किलोमीटर की दूरी तय करेगी

इस पर्यटक ट्रेन का अगला पड़ाव गुवाहाटी होगा, जहां से पर्यटकों को सड़क मार्ग से मेघालय की राजधानी शिलॉन्ग ले जाया जाएगा और उनका रास्ते में राजसी उमियम झील पर रुकने का कार्यक्रम होगा। अगले दिन की शुरुआत पूर्वी खासी पहाड़ियों में बसे चेरापूंजी की यात्रा से होगी। जहां पर्यटक शिलॉन्ग पीक, एलिफेंट फॉल्स, नवाखलिकाई फॉल्स और मावसमाई गुफाओं जैसे दर्शनीय स्थलों का भ्रमण करेंगे। चेरापूंजी से पर्यटक वापसी यात्रा में दिल्ली लौटने के लिए गुवाहाटी स्टेशन पर ट्रेन में सवार होंगे। इस यात्रा के दौरान यह ट्रेन लगभग 5,800 किलोमीटर की दूरी तय करेगी।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 901463
आखरी अपडेट: 23rd Apr 2024