प्रतिक्रिया | Wednesday, July 24, 2024

दिल्ली के उपराज्यपाल ने बुलाई आपात बैठक, अधिकारियों की छुट्टियां रद्द

दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने राजधानी में जलभराव की स्थिति को खतरनाक बताया है। आज (28 जून) सुबह 11 बजे राजनिवास में एक एमरजेंसी मीटिंग बुलाई गई। आपातकालीन बैठक में उन्होंने जल निकासी के लिए अनधिकृत कालोनियों से लेकर अंडरपास और सुरंगों तक में पंप लगाने का निर्देश दिल्ली सरकार और सम्बन्धित एजेंसियों को दिया। 

बैठक में दिल्ली जल बोर्ड, लोक निर्माण विभाग, दिल्ली नगर निगम, दिल्ली विकास प्राधिकरण, सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग और दिल्ली पुलिस जैसी नागरिक एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।

इस दौरान उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने मानसून पूर्व भारी बारिश के कारण दिल्ली में जलजमाव और बाढ़ की स्थिति की समीक्षा की। एलजी ने कहा कि जल जमाव की वजह से शार्ट सर्किट होने की आशंका के मद्देनजर बिजली कंपनियों के वरिष्ठ अधिकारियों की छुट्टी पर दो माह तक रोक लगाई जाए।

एलजी की बैठक के बाद दोपहर 2 बजे दिल्ली सरकार ने भारी बारिश और जलभराव को लेकर दिल्ली सचिवालय में आपात बैठक बुलाई। बैठक में दिल्ली सरकार के सभी मंत्री और संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे। 

वहीं दूसरी ओर दिल्ली भारी बारिश के चलते मिंटो रोड पर हुए जलभराव से राहत का काम जारी है। पानी को पंप की मदद से निकाला जा रहा है। 

बता दें, दिल्ली में कल सुबह आठ बजे से आज सुबह आठ बजे तक यानी 24 घंटे की वर्षा ने पिछले 88 साल का रिकॉर्ड तोड़ा। इससे पहले 28 जून 1936 को 235.5 मिमी बारिश हुई थी।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 5336931
आखरी अपडेट: 24th Jul 2024