प्रतिक्रिया | Thursday, May 23, 2024

महाकुम्भ 2025 : संगमनगरी में पर्यटकों को होटलों में मिलेंगी वर्ल्ड क्लास सुविधाएं

उत्तर प्रदेश सरकार संगमनगरी प्रयागराज में महाकुम्भ को भव्य और दिव्य स्वरूप देने के लिए सतत प्रयास कर रही है। इसके लिए सरकार महाकुम्भ में 41 करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं के ठहरने के लिए विश्व स्तरीय सुविधाओं की व्यवस्था सुनिश्चित कर रही है। कुम्भ क्षेत्र में 10 हजार से अधिक की क्षमता वाली टेंट सिटी भी बनाई जा रही है। वहीं, पर्यटन विभाग की ओर से होटलों में अतिरिक्त व्यवस्थाएं की जा रही हैं।

बता दें कि, जिला प्रशासन ने महाकुम्भ के दौरान 41 करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं के आने का अनुमान जताया था। जिस पर प्रदेश सरकार ने उचित व्यवस्था करने के निर्देश दिये थे। प्रयागराज में महाकुम्भ-2025 को लेकर तैयारियां तेजी से धरातल पर उतरने लगी हैं। शासन स्तर पर हर कार्य पर पैनी नजर रखी जा रही है।

347.41 लाख की लागत से होटलों का हो रहा कायाकल्प

शहर के सिविल लाइंस स्थित होटल राही इलावर्त में महाकुम्भ को देखते हुए कायाकल्प का कार्य चल रहा है। राज्य पर्यटन विकास निगम प्रयागराज के वरिष्ठ प्रबंधक डीपी सिंह ने बताया कि कुल 347.41 लाख की लागत से होटलों का कायाकल्प किया जा रहा है। जिसमें सुविधाओं का विस्तार और सुंदरीकरण शामिल है। इसके साथ ही होटलों में फसाड लाइट का भी काम किया जा रहा है। होटल के 20 कमरों और बैंक्वेट हॉलके रिनोवेशन के अलावा रिसेप्शन एरिया का उच्चीकरण किया जा रहा है। साथ ही होटल में किचेन और पार्किंग स्थल के नवीनीकरण और उच्चीकरण कार्य प्रगति पर है। ये सभी कार्य सितम्बर तक पूरे कर लिये जाएंगे।

त्रिवेणी दर्शन में भी सुविधाओं का विस्तार

उल्लेखनीय है कि संगमनगरी में यमुना तट पर स्थित होटल राही त्रिवेणी दर्शन पर्यटकों और श्रद्धालुओं के ठहरने के लिए पहली पसंद है। क्योंकि होटल से यमुना नदी का व्यू इसकी खूबसूरती को और बढ़ा देता है। ऐसे में यूपी पर्यटन विकास निगम की तरफ से एक नई बिल्डिंग का निर्माण चल रहा है। इसमें 18 कमरे बनाए जा रहे हैं। फसाड का कार्य भी चल रहा है। इसके अलावा कई अन्य कार्य भी किये जा रहे हैं। इसके लिए 560.70 लाख रुपये खर्च किए जा रहे हैं।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 1899441
आखरी अपडेट: 23rd May 2024