प्रतिक्रिया | Thursday, July 25, 2024

QUAD सदस्य देशों के अधिकारियों ने मई 2023 शिखर सम्मेलन के बाद से हुई प्रगति की समीक्षा की

‘क्वाड’ सदस्य देशों के वरिष्ठ अधिकारियों ने मई 2023 में हुए शिखर सम्मेलन में तय प्रतिबद्धताओं को पूरा करने की दिशा में ‘क्वाड’ (QUAD) के विभिन्न कार्य समूहों द्वारा की गई प्रगति की समीक्षा की। विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने स्वास्थ्य सुरक्षा, मानवीय सहायता और आपदा राहत, जलवायु लचीलापन और आतंकवाद का मुकाबला जैसे क्षेत्रों में भारत-प्रशांत क्षेत्र में जनता की भलाई के लिए समूह के सहयोग को आगे बढ़ाने के लिए नए विचारों पर चर्चा की।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जायसवाल ने एक्स पर कहा कि 3 जुलाई को क्वाड के वरिष्ठ अधिकारियों की वर्चुअल मोड में बैठक हुई। भारत, ऑस्ट्रेलिया, जापान और अमेरिका के अधिकारियों ने विभिन्न कार्य समूहों के तहत क्वाड के व्यावहारिक सहयोग की समीक्षा की और आपसी हित के प्रमुख क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान किया।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से मिले अधिकारियों ने स्वास्थ्य सुरक्षा, मानवीय सहायता और आपदा राहत, जलवायु लचीलापन और आतंकवाद का मुकाबला जैसे क्षेत्रों में भारत-प्रशांत क्षेत्र में जनता की भलाई के लिए समूह के सहयोग को आगे बढ़ाने के लिए नए विचारों पर भी चर्चा की। भारत के विदेश मंत्रालय, ऑस्ट्रेलिया के विदेश एवं व्यापार मंत्रालय, जापान के विदेश मंत्रालय और अमेरिका के विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने मई 2023 के ‘क्वाड लीडर्स समिट’ में तय प्रतिबद्धताओं को पूरा करने की दिशा में ‘क्वाड’ के विभिन्न कार्य समूहों द्वारा की गई प्रगति की समीक्षा के लिए बैठक की।

बता दें, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 20 मई 2023 को जापान के हिरोशिमा में ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री एंथनी अल्बनीस, जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा और संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति जोसेफ बाइडेन के साथ व्यक्तिगत उपस्थिति वाले तीसरे क्वाड राजनेता शिखर सम्मेलन में भाग लिया था। इस दौरान राजनेताओं ने भारत-प्रशांत क्षेत्र में विकास के बारे में महत्वपूर्ण बातचीत की, जिसने उनके साझा लोकतांत्रिक मूल्यों और रणनीतिक हितों की पुष्टि की थी। साथ ही उन्होंने एक मुक्त, खुले और समावेशी भारत-प्रशांत क्षेत्र के प्रति अपने विज़न के तहत, संप्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता और विवादों के शांतिपूर्ण समाधान के सिद्धांतों को बनाए रखने के महत्व को दोहराया था। क्वाड राजनेता शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री ने क्वाड के रचनात्मक एजेंडे को मजबूत करने और क्षेत्र के लिए ठोस परिणाम प्रदान करने के महत्व पर जोर दिया था इसके अलावा पीएम मोदी ने क्वाड नेताओं को 2024 में अगले क्वाड शिखर सम्मेलन में भारत आने के लिए आमंत्रित भी किया था।

गौरतलब है, क्वाड समूह भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया के बीच अनौपचारिक रणनीतिक वार्ता मंच है, जो ‘मुक्त, खुले और समृद्ध’ भारत-प्रशांत क्षेत्र सुनिश्चित करने और उसके समर्थन के लिये इन देशों को एक साथ लाता है। ‘क्वाड’ में भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया शामिल हैं।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 5412844
आखरी अपडेट: 25th Jul 2024