प्रतिक्रिया | Friday, June 14, 2024

31/05/24 | 3:15 pm

बेंगलुरु: प्रज्वल रेवन्ना की अदालत में पेशी की उम्मीद, पहले अस्पताल में कराया जा रहा मेडिकल

यौन शोषण के आरोपों से घिरे प्रज्वल रेवन्ना को आखिरकार बेंगलुरु में बीती रात गिरफ्तार कर लिया गया। वह म्यूनिख से बेंगलुरु पहुंचा था। अब प्रज्वल रेवन्ना को मामले की जांच कर रही विशेष जांच टीम (एसआईटी) द्वारा अदालत में पेश किए जाने की उम्मीद की जा रही है। सुनवाई से पहले उसका मेडिकल परीक्षण शहर के बॉरिंग अस्पताल में किया जा रहा है। 

इस बीच, उनकी मां भवानी रेवन्ना से शनिवार (1 जून) को एसआईटी पूछताछ करेगी। दरअसल, रेवन्ना की गिरफ्तारी से पहले, उन्होंने अग्रिम जमानत के लिए एक स्थानीय अदालत का रुख किया था। प्रज्वल रेवन्ना के खिलाफ आरोप लोकसभा चुनाव के बीच में सामने आए और अब रेवन्ना को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

प्रज्वल रेवन्ना करीब 35 दिनों बाद भारत वापस लौटा

ज्ञात हो, बीती आधी रात करीब 12:50 मिनट पर जैसे ही रेवन्ना ने बेंगलुरु में केंपेगौड़ा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर लैंड किया उसे एसआईटी ने अपने शिकंजे में ले लिया और आज शुक्रवार को कोर्ट में रेवन्ना की पेशी है। इससे पहले आज ही एसआईटी अधिकारी सीआईडी दफ्तर भी पहुंचे थे। प्रज्वल रेवन्ना करीब 35 दिनों बाद भारत वापस लौटा है। कर्नाटक में हासन संसदीय सीट से एनडीए के प्रत्याशी रेवन्ना इस समय जेडीएस से निलंबित हैं। 

विदेश भागने में रेवन्ना ने उठाया था राजनयिक पासपोर्ट का फायदा

अश्लील वीडियो कांड के मुख्य आरोपी रेवन्ना ने अश्लील वीडियो वायरल होने के बाद 26 अप्रैल को भारत छोड़ दिया और विदेश भाग गया। ज्ञात हो, एक सांसद होने के कारण रेवन्ना के पास एक राजनयिक पासपोर्ट है जिसका पूरा फायदा उसने उठाया। एक तरफ रेवन्ना जर्मनी में था तो दूसरी तरफ कर्नाटक में रेवन्ना के खिलाफ खूब प्रदर्शन  होते रहे।

बाद में रेवन्ना ने वीडियो जारी कर भारत वापसी की घोषणा की

इसी बीच उसने एक वीडियो संदेश जारी कर 31 मई को भारत वापसी की घोषणा भी कर दी जिसके बाद से ही बेंगलुरु एयरपोर्ट पर एसआईटी रेवन्ना को गिरफ्तार करने के लिए तैयार थी।

पिछले दिनों इंटरपोल ने रेवन्ना के राजनयिक पासपोर्ट को रद्द करने की प्रक्रिया प्रारंभ की

वहीं पिछले दिनों इंटरपोल ने रेवन्ना के खिलाफ ब्लू कॉर्नर नोटिस भी जारी किया था। बतौर सांसद उनके राजनयिक पासपोर्ट को रद्द करने की प्रक्रिया प्रारंभ की गई थी। रेवन्ना ने बेंगलुरु में अग्रिम जमानत याचिका भी लगाई थी लेकिन वो भी खारिज कर दी गई।

प्रज्वल रेवन्ना पर लगे हैं ये आरोप

आरोप है कि प्रज्वल रेवन्ना ने 2 हजार से अधिक अश्लील वीडियो बनाएं और 400 से  ज्यादा महिलाओं के साथ ब्लात्कार किया। हालांकि ये बात अलग है कि अब तक कोई भी मामला दर्ज करने के लिए आगे नहीं आया है।

बहरहाल रेवन्ना पर ब्लात्कार, पीछा करने और यौन उत्पीड़न के लिए आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत आरोप लगाए गए हैं। ऐसे में अब अगर रेवन्ना हासन सीट जीत भी जाता है तो उसे  अयोग्यता का भी सामना करना पड़ेगा।

प्रज्वल रेवन्ना केस टाइमलाइन

– आरोपों के सामने आने के छह दिन बाद और हासन सीट पर मतदान के एक दिन बाद 26 अप्रैल को रेवन्ना अपने राजनयिक पासपोर्ट के जरिए म्यूनिख भाग निकला। 

– रेवन्ना ने उसी दिन, एक्स पर एक बयान भी पोस्ट किया जिसमें उसने केवल इतना कहा कि “सत्य जल्द ही सामने आएगा” और आरोपों का कोई उल्लेख नहीं किया।

– इसके पश्चात 7 मई को इंटरपोल ने ब्लू कॉर्नर नोटिस जारी किया, जिसमें सदस्य देशों की पुलिस से किसी आरोपी, उसके स्थान या आपराधिक जांच के संबंध में गतिविधियों के बारे में जानकारी एकत्र करने का अनुरोध किया गया।

– बता दें प्रज्वल रेवन्ना के खिलाफ वारंट 18 मई को जारी किया गया था, जिसके तहत उसे गिरफ्तार किया गया है।

– वहीं इससे पहले बीते हफ्ते, 23 मई को देवेगौड़ा ने अपने पोते रेवन्ना को पत्र लिखकर आत्मसमर्पण करने को भी कहा था।

– पत्र में देवगोड़ा ने लिखा था “इस मोड़ पर, मैं केवल एक ही काम कर सकता हूं। मैं प्रज्वल को कड़ी चेतावनी दे सकता हूं और वो जहां भी हो उसे वहां से वापस लौटने और पुलिस के सामने आत्मसमर्पण करने के लिए कह सकता हूं।”

– चार दिन बाद रेवन्ना ने वीडियो पोस्ट किया जिसमें उसने कहा कि वह 31 मई को वापस आएंगा। इसके पश्चात बीती आधी रात करीब 12:50 पर जैसे ही रेवन्ना ने बेंगलुरु में केंपेगौड़ा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर लैंड किया उसे एसआईटी ने अपने शिकंजे में ले लिया।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 3560842
आखरी अपडेट: 14th Jun 2024