प्रतिक्रिया | Tuesday, May 21, 2024

अयोध्या में राम नवमी पर भक्तों की भीड़ के लिए राम मंदिर ट्रस्ट ने किए इंतजाम, वीआईपी दर्शन पर लगा प्रतिबंध

श्री राम नवमी के त्योहार के दौरान आने वाले भक्तों की सुविधा के लिए श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से विशेष व्यवस्था की गई है। राम मंदिर ट्रस्ट ने 15 से 18 अप्रैल तक वीआईपी (VIP) दर्शन और वीआईपी पास पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया है। श्री राम नवमी के दिन सुबह ब्रह्म मुहूर्त में 3:30 बजे से भक्तों के लिए कतारबद्ध होने की व्यवस्था रहेगी। गौरतलब हो कि रामनवमी पर रामलला का ‘सूर्य अभिषेक’ होगा। यह पहली बार होगा जब रामलला भव्य मंदिर में रामनवमी मनाएंगे। इस अवसर पर देश और दुनिया भर से श्रद्धालु अयोध्या आ रहे हैं। रामनवमी की मुख्‍य ति‍थियों पर आने वाली भीड़ को ध्‍यान मे रखकर ऐसी व्यवस्था बनाई जा रही है, जिससे ज्यादा से ज्यादा श्रद्धालु रामलाल के दर्शन कर सकें। उल्लेखनीय है, मंदिर परिसर में 4 कतार में दर्शन के लिए बैरिकेडिंग की गई थी। अब कतारों की संख्या बढ़ाकर 7 कर दी गई है।

श्री राम के भव्य मंदिर में उनका जन्मोत्सव है खास

राम मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्रा ने मीडिया को बताया कि राम नवमी पर दोपहर 12:16 बजे करीब 5 मिनट तक सूर्य की किरणें भगवान रामलला के माथे पर पड़ेंगी, जिसके लिए महत्वपूर्ण तकनीकी व्यवस्थाएं की जा रही हैं। वैज्ञानिक इन क्षणों को प्रदर्शित करने के लिए काम कर रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने कहा कि मंदिर का बचा हुआ काम भी दिसंबर 2024 तक पूरा हो जाएगा। राम नवमी के मौके पर अयोध्या में राम मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए रात 11 बजे तक दर्शन उपलब्ध रहेंगे।

श्री राम नवमी महोत्सव के दौरान सुबह साढ़े तीन बजे से दर्शन होगा शुरू

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपत राय ने जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि श्री राम नवमी महोत्सव के दौरान सुबह साढ़े तीन बजे से ब्रह्म मुहूर्त में मंगला आरती के बाद अभिषेक, श्रृंगार और दर्शन एक साथ जारी रहेगा। सुबह 5:00 बजे श्रृंगार आरती होगी और श्री रामलला के दर्शन और सभी पूजा अनुष्ठान हमेशा की तरह एकसाथ चलते रहेंगे। इसके अलावा श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक पोस्ट में इस बारे में जानकारी साझा की है, जिसके अनुसार दर्शन की अवधि 19 घंटे तक बढ़ा दी गई है, जो मंगला आरती से शुरू होकर रात 11 बजे तक जारी रहेगी। भोग अर्पण के दौरान सिर्फ पांच मिनट के लिए पट बंद रहेगा। वहीं ट्रस्ट ने विशिष्ट अतिथियों से अनुरोध किया है कि वे 19 अप्रैल के बाद ही दर्शन के लिए आयें।

https://x.com/ShriRamTeerth/status/1779810055837340054

18 ओर 19 अप्रैल को नहीं दिए जाएंगे वीआईपी पास

बता दें कि भगवान राम को भोग लगाने के लिए समय-समय पर थोड़ी-थोड़ी देर के लिए पर्दा लगाया जाएगा। रात्रि 11 बजे तक क्रम पूर्ववत जारी रहेगा, उसके बाद भोग एवं शयन आरती होगी। तीर्थ क्षेत्र ने बताया कि रामनवमी पर शयन आरती के बाद मंदिर के निकास द्वार पर प्रसाद मिलेगा। आगंतुकों को मोबाइल फोन, जूते, चप्पल, बड़े बेग निषिद्ध वस्तुएं आदि मंदिर से सुरक्षित रूप से दूर रखना चाहिए। बताया गया 18 ओर 19 अप्रैल को सुगम दर्शन पास, वीआईपी दर्शन पास, मंगला आरती पास, श्रृंगार आरती पास और शयन आरती पास नहीं दिए जाएंगे।

कतारों की संख्या बढ़ा दी गयी है

प्राप्त जानकारियों के अनुसार मंदिर परिसर में 4 कतार में दर्शन के लिए बैरिकेडिंग की गई थी। अब कतारों की संख्या बढ़ाकर सात कर दी गई है। स्‍टील की बैरिकेडिंग का काम पूरा हो चुका है। मंदिर परिसर में भीड़ कम हो इसके लिए भीड़ को डायवर्ट कर 125 स्‍थानों पर एलईडी स्क्रीन की व्यवस्था की गई है। इन जगहों से लोग रामलला के लाइव दर्शन कर सकेंगे।

सभी कार्यक्रमों का लाइव प्रसारण दिखाया जायेगा

बता दें कि राम जन्मभूमि के प्रवेश द्वार पर, सुग्रीव किले के नीचे, बिड़ला धर्मशाला के सामने, ‘श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ सेवा केंद्र स्थापित किया गया है, जिसमें जन सुविधाएं उपलब्ध हैं। अयोध्या नगर निगम क्षेत्र में लगभग 80 से 100 स्थानों पर एलईडी स्क्रीन लगाकर श्री राम जन्मभूमि मंदिर में होने वाले सभी कार्यक्रमों का लाइव प्रसारण दिखाया जायेगा। यह कार्य भक्तों की सुविधा के लिए श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की ओर से प्रसार भारती द्वारा किया गया है। ट्रस्ट के सोशल मीडिया एकाउंट पर भी लाइव प्रसारण होगा। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने सोशल मीडिया एक्स पर लिखा, “श्री राम नवमी के कान आने वाले भक्तों की सुविधा के लिए, श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट द्वारा विशेष व्यवस्था की गई है। इस सुविधा और समय की बर्बादी से बचने के लिए दर्शन, भक्तों को सलाह दी जाती है कि वे अपने मोबाइल फोन और मूल्यवान वस्तुएं न लाएं।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 1812229
आखरी अपडेट: 21st May 2024