प्रतिक्रिया | Wednesday, May 29, 2024

खनन क्षेत्र में हुआ रिकॉर्ड उत्पादन, प्रमुख खनिजों और एल्युमीनियम धातु के उत्पादन में जोरदार वृद्धि

भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा एल्युमीनियम उत्पादक, तीसरा सबसे बड़ा चूना पत्थर उत्पादक और चौथा सबसे बड़ा लौह अयस्क उत्पादक है। वित्त वर्ष 2024 में खनन क्षेत्र में रिकॉर्ड उत्पादन हुआ। उल्लेखनीय है कि वित्त वर्ष 2023 के दौरान अप्रैल-फरवरी की 11 महीने की अवधि के लिए लौह अयस्क का उत्पादन 230 मिलियन मीट्रिक टन (एमएमटी) रहा था, जो वित्त वर्ष 24 की समान अवधि के दौरान 9.6 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 252 एमएमटी हो गया है। संभावना है कि वित्त वर्ष 24 में लौह अयस्क का पूरे वर्ष का उत्पादन वित्त वर्ष 23 के 258 एमएमटी के उत्पादन के रिकॉर्ड को तोड़ देगा।

खान मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान के बताया गया कि फरवरी 2024 के महीने में खनिज उत्पादन का सूचकांक 139.6 था, जो फरवरी 2023 की तुलना में 8.0 प्रतिशत अधिक है। वित्त वर्ष 2014 के अप्रैल-फरवरी की 11 महीने की अवधि के लिए इस सूचकांक की संचयी वृद्धि पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 8.2 प्रतिशत अधिक रही है। पिछले वर्ष के इसी महीने की तुलना में फरवरी 2024 के दौरान सकारात्मक वृद्धि दिखाने वाले कुछ गैर-ईंधन खनिज- बॉक्साइट, क्रोमाइट, तांबा सान्द्र, सोना, जस्ता सान्द्र, मैंगनीज अयस्क, फॉस्फोराइट, हीरा, ग्रेफाइट (आर.ओ.एम.), चूना पत्थर, मैग्नेसाइट, आदि हैं।

मंत्रालय ने बताया, मूल्य के आधार पर, कुल एमसीडीआर खनिज उत्पादन में लौह अयस्क और चूना पत्थर की सम्मिलित हिस्सेदारी लगभग 80 प्रतिशत है। अनंतिम आंकड़ों के अनुसार, वित्त वर्ष 2024 में देश में इन प्रमुख खनिजों के उत्पादन में उच्च वृद्धि दर्ज की गयी है। वित्त वर्ष 2023 के दौरान अप्रैल-फरवरी की 11 महीने की अवधि के लिए लौह अयस्क का उत्पादन 230 मिलियन मीट्रिक टन (एमएमटी) रहा था, जो वित्त वर्ष 24 की समान अवधि के दौरान 9.6 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 252 एमएमटी हो गया है।

संभावना है कि वित्त वर्ष 24 में लौह अयस्क का पूरे वर्ष का उत्पादन वित्त वर्ष 23 के 258 एमएमटी के उत्पादन के रिकॉर्ड को तोड़ देगा। इसी तरह का रुझान दिखाते हुए, वित्त वर्ष 2023 के दौरान अप्रैल-फरवरी की 11 महीने की अवधि के लिए चूना पत्थर का उत्पादन 366 एमएमटी से बढ़कर वित्त वर्ष 24 की इसी अवधि के लिए 11.2 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 407 एमएमटी हो गया है और पहले ही वित्त वर्ष 23 में हासिल किये गए 406.5 एमएमटी के पूरे साल के उत्पादन रिकॉर्ड को पार कर चुका है।

बता दें कि अलौह धातु क्षेत्र में प्राथमिक एल्युमीनियम धातु का उत्पादन वित्त वर्ष 2023 के दौरान अप्रैल-फरवरी की 11 महीने की अवधि के लिए 37.11 लाख टन (एलटी) रहा था, जो बढ़कर वित्त वर्ष 24 की इसी अवधि के दौरान 2.5 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 38.02 एलटी हो गया है। संभावना है कि वित्त वर्ष 2024 में प्राथमिक एल्युमीनियम का पूरे वर्ष का उत्पादन वित्त वर्ष 2013 के 40.73 एलटी के उत्पादन रिकॉर्ड को तोड़ देगा।

जैसा कि भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा एल्युमीनियम उत्पादक, तीसरा सबसे बड़ा चूना पत्थर उत्पादक और चौथा सबसे बड़ा लौह अयस्क उत्पादक है। लौह अयस्क और चूना पत्थर के उत्पादन में स्वस्थ वृद्धि उपयोगकर्ता उद्योगों – इस्पात और सीमेंट – में मजबूत मांग की स्थिति को दर्शाती है।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 2151395
आखरी अपडेट: 28th May 2024