प्रतिक्रिया | Tuesday, July 16, 2024

देश एवं सार्वजनिक क्षेत्र के सबसे बड़े स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने 11 नई पहलों की शुरुआत की है। खास बात यह है कि इनमें डिजिटल बैंकिंग सुविधाओं को बढ़ाना और 35 नए कृषि केंद्रीकृत प्रसंस्करण प्रकोष्ठ खोलना शामिल है, जिससे कृषि ऋण खंड में जोखिम कम होगा।

इनोवेटिव सुविधाओं की घोषणा की 

महज इतना ही नहीं स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने बेहतर डिजिटल बैंकिंग अनुभव के लिए इनोवेटिव सुविधाओं की घोषणा की है। इसमें आसान डिजिटल भुगतान के लिए यूपीआई टैप-एंड-पे की शुरुआत, सूर्य घर लोन, छोटे व्यवसायों के लिए योनो बिजनेस और कॉर्पोरेट इंटरनेट बैंकिंग तक पहुंच की सुविधा शामिल है। ग्राहकों को ऋण प्रस्तावों पर स्वचालित सूचना की शुरुआत, 35 नए एग्रीकल्चर सेंट्रलाइज प्रोसेसिंग सेंटरों की शुरुआत, ई-डीएफएस के लिए बीआरआई का शुभारंभ और आरोग्य एडवांस प्लान लॉन्च भी इनमें शामिल है। 

बैंकिंग अनुभव बेहतर बनाने की जताई प्रतिबद्धता 

इस संबंध में एसबीआई ने जारी एक बयान में बताया है कि एसबीआई ने अपने 69वें स्थापना दिवस के अवसर पर बैंकिंग अनुभव को बेहतर बनाने की प्रतिबद्धता जताई। बैंक ने अपने संभावित ग्राहकों की बैंकिंग जरूरतों को पूरा करने और बैंक की पहुंच को व्यापक बनाने के लिए इन पहल की घोषणा की है। इसके तहत एसबीआई ने पंजाब के पटियाला में दूसरा वैश्विक एनआरआई केंद्र (जीएनसी) खोला है।

डिजिटल भुगतान अनुभव को किया बेहतर 

स्टेट बैंक ने यह भी बताया कि उसने अपने डिजिटल भुगतान अनुभव को बेहतर किया है। इसमें भीम एसबीआई पे ऐप पर ‘टैप-एंड-पे’ और योनो ऐप पर म्यूचुअल फंड के खिलाफ ‘एंड-टू-एंड’ डिजिटल ऋण जैसी दो सुविधाएं शामिल हैं। बैंक ने एक नई पहल की शुरुआत की है, जो एसबीआई सूर्य घर ऋण को पूरी तरह से डिजिटल ‘एंड-टू-एंड’ बनाएगा है। (इनपुट-हिंदुस्थान समाचार)

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 4922435
आखरी अपडेट: 16th Jul 2024