प्रतिक्रिया | Friday, April 12, 2024

08/03/24 | 1:47 pm

10 मई को खुलेंगे बाबा केदारनाथ धाम के कपाट, 12 मई को खुलेंगे बदरीनाथ धाम के कपाट

उत्तराखंड स्थित विश्व प्रसिद्ध ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग बाबा केदारनाथ धाम के कपाट 10 मई को प्रात: सात बजे खुलेंगे। पंचकेदार गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय की उपस्थिति में आयोजित धार्मिक समारोह में कपाट खुलने की तिथि तय हुई। भगवान केदारनाथ की पंचमुखी मूर्ति की पांच मई को ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में पूजा होगी। पंचमुखी डोली छह मई केदारनाथ धाम के लिए प्रस्थान करेगी। यह डोली नौ मई की शाम केदारनाथ धाम पहुंचेगी।

छह महीने के लिए बंद रहता है मंदिर
केदारनाथ भारत के उत्तराखण्ड राज्य के गढ़वाल मण्डल के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित एक नगर है। यह ज़िले के मुख्यालय, रुद्रप्रयाग से 86 किमी दूर है।  इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि इसका निर्माण पांडवों के पौत्र महाराजा जन्मेजय ने कराया था। यहां स्थित स्वयम्भू शिवलिंग अति प्राचीन है। आदि शंकराचार्य ने इस मन्दिर का जीर्णोद्धार करवाया। बता दें कि केदारनाथ मंदिर के खोलने और बंद करने का मुहूर्त निकाला जाता है। अभी तक यह मंदिर नवम्बर महीने के आस-पास बंद हो जाता है और छह महीने बाद अर्थात वैशाखी के बाद खुलता है।

12 मई को खुलेंगे बदरीनाथ धाम के कपाट
इससे पहले बदरीनाथ धाम के कपाट के खुलने की तारीख भी तय कर ली गई है। चमोली जिला स्थित विश्व प्रसिद्ध बदरीनाथ धाम के कपाट आगामी 12 मई (रविवार) को प्रात: 6 बजे खुलेंगे। चारधाम यात्रा को सुगम और सुरक्षित बनाने के लिए उत्तराखंड का प्रशासन पूरी तरह से तैयारियों में जुटा हुआ है। इसके साथ ही चारधाम की यात्रा से पहले बदरीनाथ और केदारनाथ में अस्पताल शुरू हो जाएंगे। वहीं माना जा रहा है कि गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट अक्षय तृतीया के अवसर पर खोले जा सकते हैं। हालाकि अभी इसकी घोषणा नहीं की गई है। 

बता दें कि हर साल लाखों की संख्या में भक्त केदारनाथ धाम के दर्शन के लिए आते हैं। साथ ही उत्तराखंड स्थित चार धाम यानि केदारनाथ, बदरीनाथ गंगोत्री, यमुनोत्री के दर्शन करते हैं। इस बार भी भक्तों की सुविधा के लिए राज्य सरकार ने तैयारी शुरू कर दी है।

No related posts found.
कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 611744
आखरी अपडेट: 12th Apr 2024