प्रतिक्रिया | Sunday, May 26, 2024

06/05/24 | 12:50 pm

ओडिशा में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा – ओडिशा अमीर है लेकिन यहां के लोग गरीब हैं

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और स्टार प्रचारक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (सोमवार) ओडिशा और आंध्र प्रदेश के चुनावी दौरे पर हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने आज सुबह ओडिशा के बेरहामपुर में एक रैली को संबोधित किया। इस दौरान जनसभा में उपस्थित लोगों से प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “कल मैं प्रभु राम की नगरी अयोध्या में था वहां मैंने रामलला और अयोध्या दर्शन किए आज मैं प्रभु जगन्नाथ की धरती पर हूं और आशीर्वाद लेने आया हूं।” उन्होंने कहा कि ओडिशा में उपजाऊ भूमि, खनिज संसाधन, समुद्री तट, बेरहामपुर जैसा व्यापार केंद्र, संस्कृति, विरासत और न जाने क्या-क्या है, परमात्मा ने ओडिशा को सबकुछ दिया हैं फिर भी इतने अमीर ओडिशा के लोग गरीब रह गए हैं। ओडिशा अमीर है लेकिन जनता गरीब हैं। उन्होंने कहा कि ओडिशा में बीजेडी (BJD) अस्त है, कांग्रेस पस्त है और लोग भाजपा पर आश्वस्त हैं और सिर्फ भाजपा उम्मीदों का नया सूरज बनकर आई है।

4 जून को बीजेडी सरकार की एक्सपाइरी डेट लिखी हुई है

गंजम में चुनावी रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “भाजपा जो कहती है वह करके दिखाती है, यहां सरकार बनने के बाद हम पूरी शक्ति से हमारी सभी घोषणाओं पर अमल करेंगे। 4 जून को बीजेडी सरकार की एक्सपाइरी डेट लिखी हुई है। आज 6 मई है और 6 जून को भाजपा के मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार तय होगा, 10 जून को भुवनेश्वर में भाजपा पार्टी के मुख्यमंत्री पद का शपथ समारोह होगा। इसके लिए मैं आपको निमंत्रण देने आया हूँ। उन्होंने कहा कि ओडिशा में बीजेडी (BJD) अस्त है, कांग्रेस पस्त है और लोग भाजपा पर आश्वस्त हैं और सिर्फ भाजपा उम्मीदों का नया सूरज बनकर आई है। पीएम मोदी ने कहा कि बीजेडी के छोटे छोटे नेता भी बड़े-बड़े बंगले के मालिक हो गए हैं। यहां डॉक्टरों की कई सीटें खाली रह गई हैं। छात्र अपने शैक्षिक पाठ्यक्रम समाप्त नहीं कर रहे हैं। जब मोदी ओडिशा के विकास के लिए पर्याप्त और उचित धन मुहैया करा रहे हैं तो फिर ऐसा क्यों हुआ?

केंद्र सरकार ने जल जीवन मिशन के लिए 10 हजार करोड़ रुपये ओडिशा को दिए

उन्होंने कहा कि 10 साल में साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए से ज्यादा ओडिशा को दिए हैं। पीएम मोदी ने कहा कि मात्र पैसे भेजने से कुछ नहीं होता। अच्छी सरकार भी होनी चाहिए। पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ने जल जीवन मिशन के लिए 10 हजार करोड़ रुपये ओडिशा को दिए। वो पैसे यहां की सरकार सही से खर्च ही नहीं कर पाई। वे गांव में सड़कें बनाने के लिए पैसा भेजता है, लेकिन यहां गांवों में सड़कों की हालत खराब है। वह (मोदी) दिल्ली से मुफ्त चावल के लिए पैसे भेजता है, लेकिन बीजेडी सरकार इस योजना पर भी अपना फोटो चिपका देती है। उन्होंने लोगों से कहा कि यहां कि सरकार ने केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं को लागू ही नहीं किया, जिसका लाभ लोगों को नहीं मिल सका।

ओडिशा में जो सरकार है, उसे महिलाओं के हितों की कोई परवाह ही नहीं

पीएम मोदी ने जनसभा में कहा कि आज ओडिशा में जो सरकार है, उसे महिलाओं के हितों की कोई परवाह ही नहीं है। केंद्र सरकार हर गर्भवती महिला को 6 हजार रुपये की आर्थिक मदद दे रही है। आप ये जानकर हैरान रह जाएंगे कि ओडिशा सरकार ने इतनी महत्वपूर्ण और पवित्र योजना पर भी ताला लगा दिया।
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध है। ओडिशा भाजपा की सुभद्रा योजना, यहां महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त करेगी। ओडिशा भाजपा ने यहां स्वयं सहायता समूहों की 25 लाख बहनों-बेटियों को लखपति दीदी बनाने का संकल्प लिया है। उन्होंने कहा कि ओडिशा की बेटी को देश का सबसे बड़ा पद दिया है। इससे बड़े गर्व की क्या बात हो सकती हैं। ये मेरा सौभाग्य है कि राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू जी मुझे लगातार ओडिशा के विकास के लिए बहुत बारीक-बारीक चीजें बताती हैं।

पीएम मोदी ने लोगों को त्रिपुरा का उदाहरण दिया

पीएम मोदी ने लोगों को त्रिपुरा का उदाहरण देते हुए कहा कि जैसे त्रिपुरा को 30 साल से ज़्यादा के कम्युनिस्ट और कांग्रेस के शासन ने तबाह कर दिया। वहां के लोगों के भाजपा को जिताया और पांच साल में लोगों ने काफी काम किया और अब त्रिपुरा तेज़ गति से विकास कर रहा है। उत्तर प्रदेश कानून-व्यवस्था के लिए बदनाम हो चुकी थी हमें मौका दिया योगी जी बैठे और आज उत्तर प्रदेश विकास कर रहा है। इसी तरह असम भी वर्षों तक कांग्रेस शासन को देखने के बाद लोगों ने भाजपा को चुना, अब असम हिंसा का दौर पीछे छोड़कर विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। छत्तीसगढ़ में भी विकास कार्यों ने गति पकड़ी हुई हैं।

ओडिशा के लिए किये जाने वाले विकास कार्यों का किया उल्लेख

चुनावी जनसभा में अपने सम्बोधन के दौरान पीएम मोदी ने ओडिशा के लिए किये जाने वाले विकास कार्यों का उल्लेख किया और लोगों को बताया कि ओडिशा के सामुद्रिक सामर्थ्य को बढ़ाने के लिए भी काम कर रहे है। उन्होंने कहा कि हमारा फोकस ओडिशा की कोस्टल इकॉनमी पर है। हर क्षेत्र में हम बहुत निवेश कर रहे हैं। हमने पहली बार मछली पालन का अलग मंत्रालय बनाया, बोट को आधुनिक बनाने के लिए सब्सिडी दी, हमने मछुआरों को पहली बार किसान क्रेडिट कार्ड दिया। यहां ओडिशा में भी सागरमाला योजना के तहत करोड़ों का काम हुआ है। मछुआरों की सुविधा और समृद्धि हमारे लिए सर्वोपरि है। उन्होंने यह भी कहा कि गंजम जिला देश के आकर्षक टूरिस्ट हब के रूप में जाना जाए यह हमारा प्रयास है।

No related posts found.
कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 2024128
आखरी अपडेट: 25th May 2024