प्रतिक्रिया | Saturday, June 15, 2024

संयुक्त राष्ट्र ने बदला भारत की विकास दर का अनुमान, बढ़ाकर किया 6.9 फीसदी

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर अच्छी खबर है। संयुक्त राष्ट्र संघ ने साल 2024 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को संशोधित कर 6.9 फीसदी कर दिया है। इससे पहले संयुक्त राष्ट्र संघ ने जनवरी में 2024 के लिए भारत की सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी वृद्धि 6.2 फीसदी रहने का अनुमान जताया था।

ज्ञात हो कि, बीते कुछ महीनों में दुनिया की तमाम रेटिंग एजेंसियों ने लगातार यह अनुमान जताया है कि भारत विकास के मामले में तूफानी तेजी से दौड़ेगा।

भारतीय अर्थव्यवस्था साल 2024 में लगभग 7 फीसदी की दर से बढ़ने का अनुमान

संयुक्त राष्ट्र संघ ने गुरुवार को जारी अपनी रिपोर्ट में भारतीय अर्थव्यवस्था की विकास दर के पूर्वानुमान में संशोधन कर साल 2024 में इसके लगभग 7 फीसदी की दर से बढ़ने का अनुमान जताया है। संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि मजबूत सार्वजनिक निवेश और लचीले निजी उपभोग के चलते भारतीय अर्थव्यवस्था में तेजी बनी रहेगी।

मजबूत विकास का भारत को फायदा

संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय अर्थव्यवस्था साल 2024 में 6.9 फीसदी की विकास दर से बढ़ेगी, जबकि 2025 में यह दर 6.6 फीसदी रहेगी। रिपोर्ट के मुताबिक मजबूत घरेलू मांग और मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस सेक्टर में भी मजबूत विकास का भारत को फायदा मिला है। वहीं, वैश्विक अर्थव्यवस्था 2024 में 2.7 फीसदी की दर से बढ़ने का अनुमान है, जो जनवरी के पूर्वानुमान से 0.3 फीसदी ज्यादा है।

उल्लेखनीय है कि मूडीज ने इसी हफ्ते चालू वित्त वर्ष 2024-25 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर 6.6 फीसदी और बीते वित्त वर्ष 2023-24 के लिए वास्तविक जीडीपी अनुमान को संशोधित कर 8 फीसदी कर दिया है। (इनपुट-हिंदुस्थान समाचार)

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 3610414
आखरी अपडेट: 15th Jun 2024