प्रतिक्रिया | Friday, June 14, 2024

Weather Alert: दिल्ली-एनसीआर में तापमान 42 डिग्री के पार, इन राज्यों में भी भीषण गर्मी और लू का अलर्ट

 

बादलों की आवाजाही के बाद एक बार फिर आसमान से आग बरसने लगी है। मौसम विभाग ने अगले पांच दिन तक देश के पश्चिमोत्‍तर भाग और बिहार में भीषण गर्मी का अनुमान व्‍यक्‍त किया है। पश्चिमी राजस्थान, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली के कुछ हिस्सों में अत्‍यधिक गर्मी पड़ने की संभावना है। पूर्वी और मध्य भारत में भी शनिवार से गर्म हवाएं चल सकती हैं।

राजधानी दिल्ली के लिए इस साल की 16 मई सबसे गरम रही। अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया। गुरुवार इस मौसम का सबसे गरम दिन दर्ज किया गया। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने दो दिन तापमान इससे भी ऊपर चले जाने का पूर्वानुमान जारी किया है। शनिवार को लू चलने का भी पूर्वानुमान भी है।

दिल्ली में तापमान 42.5 डिग्री के पार
भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार गुरुवार को राजधानी का अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस अधिक 42.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। यह इस सीजन में अभी तक का सर्वाधिक है। इससे पहले आठ मई को अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ था। न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 24.8 डिग्री सेल्सियस रहा। हवा में नमी का स्तर 65 प्रतिशत से 25 रहा। मुंगेशपुर दिल्ली का सर्वाधिक गरम इलाका रहा। यहां का अधिकतम तापमान 44.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।

शनिवार को राजधानी में लू चलने की संभावना
विभाग का पूर्वानुमान है कि आज आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे, लेकिन धूप भी खिली रहेगी। अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमशः 43 और 25 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है। शनिवार को राजधानी में अलग-अलग स्थानों पर लू चलने की संभावना है। अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने के आसार हैं। विभाग के अनुसार गुरुवार को अधिकतम तापमान पालम में 43.5, आयानगर में 43.5, जाफरपुर में 43.7,नजफगढ़ में 44.2, मुंगेशपुर में 44.4, पीतमपुरा में 44.2 और पूसा में 44.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। अच्छी बात यह है कि इस साल मानसून की दस्तक समय से एक दिन पहले होने के आसार हैं।

22 मई तक देश के दक्षिणी हिस्सों में भारी बारिश की संभावना
उधर मौसम विभाग का अनुमान है कि 22 मई तक देश के दक्षिणी हिस्सों में भारी बारिश हो सकती है। अगले कुछ दिनों तक तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल, केरल, माहे और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में अत्‍यधिक वर्षा होने की आशंका है। सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय में भी सोमवार तक अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है। दक्षिण पश्चिम मानसून के अगले तीन दिन के भीतर दक्षिण अंडमान सागर और दक्षिण पूर्व बंगाल की खाड़ी और निकोबार द्वीप समूह के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ने की संभावना है। मौसम एजेंसी ने अगले 3-4 दिनों के लिए पश्चिमोत्‍तर, मध्य, पूर्वी भारत, महाराष्ट्र और गुजरात राज्य के कई हिस्सों में अधिकतम तापमान में लगभग 2-4 डिग्री सेल्सियस बढ़ोतरी होने का अनुमान लगाया है।

 

31 मई के आसपास केरल में दस्तक देगा मानसून
भारत मौसम विज्ञान विभाग कह चुका है कि दक्षिण-पश्चिम मानसून के 31 मई के आसपास केरल में दस्तक देने की उम्मीद है। दक्षिण-पश्चिम मानसून आम तौर 1 जून को केरल में प्रवेश करता है। इसके बाद यह आमतौर पर उत्तर की ओर बढ़ता है और 15 जुलाई के आसपास पूरे देश में फैल जाता है। पिछले महीने, विभाग ने जून से सितंबर तक चलने वाले दक्षिण-पश्चिम मानसून मौसम के दौरान सामान्य से अधिक बारिश होने का अनुमान जताया था। जून और जुलाई को कृषि के लिए सबसे महत्वपूर्ण मानसूनी महीना माना जाता है। इस अवधि में खरीफ फसल की बुआई होती है। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने इस साल औसत से अधिक मानसूनी बारिश का अनुमान जताया है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव एम. रविचंद्रन ने कहा है कि इस साल औसत बारिश 106 फीसदी होने की उम्मीद है।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 3556766
आखरी अपडेट: 14th Jun 2024