प्रतिक्रिया | Thursday, April 18, 2024

11/01/24 | 8:53 am

पहला स्वदेशी ‘Drishti 10 UAV’ लॉन्च, समुद्री निगरानी में देगा महत्वपूर्ण योगदान

दृष्टि 10 स्टारलाइनर अनमैन्ड एरियल व्हीकल (यूएवी) को भारतीय नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने हैदराबाद में लॉन्च किया। दृष्टि 10 स्टारलाइनर एक उन्नत खुफिया, निगरानी और टोही (आईएसआर-  इंटेलिजेंस, सर्विलांस और रिकॉनिसेंस) प्लेटफॉर्म है, जो 36 घंटे की सहनशक्ति और 450 किलोग्राम पेलोड क्षमता से परिपूर्ण है।

नौसेना के समुद्री अभियानों में किया जाएगा शामिल 

यह यूएवी सिस्टम की उड़ान योग्यता के लिए नाटो के स्टैनएग 4671 (स्टैंडर्डाइज़्ड एग्रीमेंट 4671) प्रमाणन के साथ सभी मौसमों के लिए एकमात्र उपयुक्त सैन्य मंच है, जिसे सेग्रीगेटेड और अनसेग्रीगेटेड दोनों हवाई क्षेत्रों में उड़ान भरने की मंजूरी दी गई है। यूएवी को अब हैदराबाद से पोरबंदर ले जाया जाएगा, ताकि इसे नौसेना के समुद्री अभियानों में शामिल किया जा सके। 

समुद्री निगरानी में देगा महत्वपूर्ण योगदान 

यूएवी का अनावरण करने के बाद मुख्य अतिथि नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने कहा यह एक महत्वपूर्ण अवसर और परिवर्तनकारी कदम है, जो आईएसआर टेक्नोलॉजी और समुद्री प्रभुत्व में आत्मनिर्भरता की भारत की खोज में महत्वपूर्ण योगदान देगा। दृष्टि 10 का एकीकरण हमारी नौसैनिक क्षमताओं में वृद्धि करने का माध्यम बनेगा, जिससे निरंतर रूप से विकसित होने वाली समुद्री निगरानी और सैनिक परीक्षण में हमारी तैयारियों को मजबूती मिलेगी। 

यूएवी का अनावरण करने के बाद बोलते हुए, एडमिरल आर हरि कुमार ने कहा कि इसके एकीकरण से नौसैनिक क्षमताओं में वृद्धि होगी, लगातार विकसित होने वाली समुद्री निगरानी और टोही में देश की तैयारी मजबूत होगी।

रक्षा विनिर्माण में आत्मनिर्भरता हासिल करने की दिशा में प्रयास
 
दृष्टि 10 स्टारलाइनर अनमैन्ड एरियल व्हीकल (यूएवी) अदाणी डिफेंस एंड एयरोस्पेस द्वारा निर्मित है। ऐसे में अनमैन्ड सिस्टम्स के लिए एक जीवंत और सुदृढ़ इकोसिस्टम स्थापित करने के लिए अदाणी डिफेंस एंड एयरोस्पेस टीम को बधाई देते हुए तेलंगाना के उद्योग और वाणिज्य, आईटी, इलेक्ट्रॉनिक्स और विधायी मामलों के मंत्री डी. श्रीधर बाबू ने कहा कि हैदराबाद में अदाणी एयरोस्पेस पार्क एक विश्व स्तरीय सुविधा है, जो न सिर्फ भारतीय प्रतिभा का प्रमाण है, बल्कि नवाचार और स्वदेशीकरण पर भी ध्यान केंद्रित करती है। यह कहते हुए गर्व हो रहा है कि हमने रक्षा विनिर्माण में आत्मनिर्भरता हासिल करने की दिशा में सभी उचित कदम उठाने के प्रयास किए हैं और अदाणी डिफेंस जैसी कंपनियों द्वारा की जाने वाली पहल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा निर्धारित दृष्टिकोण को पूरी क्षमता से हासिल करने में योगदान देंगी।

अनमैन्ड और साइबर सिस्टम्स के उपयोग द्वारा समर्थित

अदाणी एंटरप्राइजेज के उपाध्यक्ष जीत अदाणी ने कहा कि वर्तमान समय की वैश्विक घटनाओं से पता चलता है कि भौतिक, सूचनात्मक और संज्ञानात्मक रणनीतियां एक साथ आ रही हैं। यह अभिसरण बुद्धिमत्ता, सूचना प्रसंस्करण क्षमताओं और अनमैन्ड और साइबर सिस्टम्स के उपयोग द्वारा समर्थित है। इन सिस्टम्स का उपयोग सटीक और भ्रामक दोनों तरह की जानकारी के प्रसार के लिए किया जाता है। सशस्त्र बलों की सेवा करने और भारत को निर्यात हेतु वैश्विक मानचित्र पर स्थापित करने के लिए भूमि, वायु और नौसैनिक सीमाओं पर इंटेलिजेंस, सर्विलांस और रिकॉनिसेंस प्लेटफॉर्म्स अदाणी की एक प्रमुख प्राथमिकता है। हमें गर्व है कि हम भारतीय नौसेना की सेवा करने में सक्षम हैं।” 

स्वदेशीकरण को अपनाने की हमारी यात्रा में महत्वपूर्ण उपलब्धि

अदाणी डिफेंस एंड एयरोस्पेस सीईओ आशीष राजवंशी ने कहा कि दृष्टि 10 स्टारलाइनर यूएवी आत्मनिर्भरता और उन्नत टेक्नोलॉजीस के स्वदेशीकरण को अपनाने की हमारी यात्रा में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। नौसेना को हमारी समय पर डिलीवरी, न सिर्फ हमारी सुदृढ़ गुणवत्ता प्रबंधन प्रक्रियाओं को, बल्कि हमारे भागीदारों के उत्कृष्ट समर्थन को भी दर्शाती है, जिन्होंने इस कॉन्ट्रैक्ट से लेकर इसकी डिलीवरी तक विगत 10 महीनों में कड़ी मेहनत और लगन से काम किया है।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 734911
आखरी अपडेट: 17th Apr 2024