प्रतिक्रिया | Thursday, April 18, 2024

06/11/23 | 10:41 am

21 लाख दीपों से जगमग होगी अवधपुरी, फिर रिकॉर्ड बनाने की तैयारी

अयोध्या में मनाए जाने वाले दीपोत्सव में एक बार फिर विश्व कीर्तिमान बनाने की तैयारी है। जी हां, उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में अवधपुरी को 21 लाख दीपों से जगमग करने की तैयारी की जा रही है। इस बाबत मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों के साथ हुई एक बैठक में जरूरी दिशा निर्देश भी दे दिए हैं।

पूरी दुनिया में पहचाना जाने लगा है अयोध्या दीपोत्सव का कार्यक्रम

अयोध्या दीपोत्सव का कार्यक्रम अपनी भव्यता के लिए पूरी दुनिया में पहचाना जाने लगा है। ज्ञातव्य हो कि वर्ष 2017 से प्रतिवर्ष दीपोत्सव एक नवीन कीर्तिमान बना रहा है। इस वर्ष भी 21 लाख दीपों से अवधपुरी जगमग करने की तैयारी है। इसके लिए दीप, तेल, बाती, स्थान, स्वयंसेवकों आदि की पुख्ता व्यवस्था की जा रही है। 

मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों के साथ की बैठक

ऐसे में समारोह की गरिमा का पूरा ध्यान रखा जाना भी आवश्यक है। इसी क्रम में सभी तैयारियां समय से पूरा करने के प्रयास हो रहे हैं। इस संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों के साथ हुई एक प्रदेश स्तरीय बैठक में अपनी मंशा साफ कर दी। उन्होंने अधिकारियों को कहा है कि दीपोत्सव, उल्लास का अवसर है और इस दौरान आमजन की भावनाओं का ध्यान रखना पुलिस का नैतिक कर्तव्य है। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं है। 

सनातन परम्परा का अभिन्न हिस्सा है दीपोत्सव

दीपोत्सव, सनातन परंपरा का अभिन्न हिस्सा है। यह मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम, माता सीता और भैया लक्ष्मण के 14 वर्ष के वन प्रवास के उपरांत अयोध्या लौटने की पावन स्मृति स्वरूप है। अयोध्या दीपोत्सव में भगवान श्रीराम की अयोध्या वापसी, भरत मिलाप, श्रीराम राज्याभिषेक आदि प्रसंगों का प्रतीकात्मक चित्रण भी होगा। सरयू मइया की आरती भी उतारी जाएगी। इतना ही नहीं, चार देशों और 24 प्रदेशों की रामलीलाओं का मंचन इस क्षण को उल्लसित करेगा। इस आयोजन पर पूरी दुनिया की दृष्टि भी है। 

सजेगी अयोध्या, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

दीपोत्सव की भव्यता निहारने बड़ी संख्या में श्रद्धालुजन की सहभागिता होगी। मुख्य समारोह के अतिरिक्त अयोध्या नगर के सभी धार्मिक स्थलों, मठ-मंदिरों की सजावट भी होगी। ऐसे में यहां न सिर्फ भगवान के भक्तों बल्कि विदेशी पर्यटकों का जमवाड़ा भी होगा। क्षेत्रीय जनमानस के आने से यहां की भीड़ को नियंत्रित करना और उन्हें अनुशासित रखना भी चुनौतीपूर्ण कार्य होगा। इसे ध्यान में रखते हुए सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने का कार्य भी शुरू हो चुका है।

सीधा प्रसारण का इंतजाम

अयोध्या जनपद में जगह-जगह पर समारोह का सीधा प्रसारण का इंतजाम भी रहेगा, ताकि अधिकाधिक लोग, दीपोत्सव से जुड़ सकें। इस बाबत अभी से स्थलों का चयन और प्रसारण की व्यवस्था पुख्ता की जा रही है। राम की पैडी और ऐसे ही अन्य स्थलों पर प्रसारण के परीक्षण का कार्य अबाध गति से चल रहा है। व्यवस्था में जुड़े लोग और कार्यकर्ता रात में भी इसका ट्रायल कर रहे हैं।

यह भी है प्लानिंग

दीपोत्सव के मुख्य समारोह होने के बाद लोगों को वहां से सुरक्षित निकालने का प्रबंध हो रहा है। उन्हें उनके गंतव्य तक आसानी से पहुँचाने के हर बिंदु पर एक प्लानिंग के तहत कार्य चल रहा है। महिलाओं, बच्चों और विदेशी कलाकारों को सुरक्षित घर तक पहुंचाने की व्यवस्था भी हो रही है। इतना ही नहीं, भगदड़ की स्थिति न बनने के उपायों को भी ढूंढा जा रहा है। यदि ऐसी स्थिति उत्पन्न होती भी है तो उससे निपटने के लिए पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती सुनिश्चित की जा रही है। मंदिरों में भी भीड़ की सम्भावना के दृष्टिगत 24×7 पुलिस बल की तैनाती किए जाने की तैयारी है।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 733600
आखरी अपडेट: 17th Apr 2024