प्रतिक्रिया | Monday, July 15, 2024

DRPG और NCGG के उच्च स्तरीय आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल ने श्रीलंका का किया दौरा, प्रधानमंत्री दिनेश गुणवर्धने से की शिष्टाचार भेंट

प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग और नेशनल सेंटर फॉर गुड गर्वेनेंस ऑफ इंडिया (NCGG) के उच्च स्तरीय आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल ने द्विपक्षीय सहयोग को मजबूत बनाने के लिए 7 से 9 जुलाई, 2024 तक श्रीलंका का दौरा किया। इस दौरान दोनों पक्षों ने 2024 से 2029 तक भारत में श्रीलंका प्रशासनिक सेवा के 1500 अधिकारियों के लिए क्षमता निर्माण कार्यक्रम आयोजित करने के लिए नेशनल सेंटर फॉर गुड गवर्नेंस ऑफ इंडिया और श्रीलंका विकास प्रशासन संस्थान के बीच सहयोग के रोडमैप और संकाय विकास कार्यक्रम तथा जिला कलेक्टर स्तर पर चर्चा करने के बारे में विचार-विमर्श किया। दो दिवसीय आधिकारिक यात्रा श्रीलंका के सिविल सेवकों के लिए क्षमता निर्माण कार्यक्रम आयोजित करने के उद्देश्‍य से की गयी थी।

कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार कार्मिक प्रशासन और शासन में सहयोग के लिए भारत-श्रीलंका वार्ता “सकारात्मक और सफल” रही है। बता दें, 7 से 9 जुलाई तक कोलंबो की 2 दिवसीय यात्रा में 9 जुलाई, 2024 को संसद परिसर में श्रीलंका के प्रधानमंत्री दिनेश चंद्र रूपसिंघे गुणवर्धने से हुई शिष्टाचार भेंट भी शामिल है। इस बैठक में मजबूत द्विपक्षीय संबंधों और श्रीलंका में चल रहे शासन सुधारों के प्रति अपनी ” नेबर फर्स्‍ट ” नीति के तहत भारत की दृढ़ प्रतिबद्धता के बारे में प्रकाश डाला गया।

प्रतिनिधिमंडल ने दोनों देशों के बीच सहयोग के प्रयासों को और अधिक मजबूत करने के लिए राष्ट्रपति के सचिव ई.एम.एस.बी. एकनायके, प्रधानमंत्री के सचिव अनुरा दिसानायके, प्रदीप यासरथने सचिव सार्वजनिक प्रशासन, गृह मंत्रालय और प्रांतीय परिषद तथा स्थानीय सरकार के साथ भी बैठकें कीं। भारतीय प्रतिनिधिमंडल ने श्रीलंका इंस्टिट्यूट ऑफ डेवलपमेंट एडमिनिस्‍ट्रेशन (SLIDA) का दौरा किया और इसके महानिदेशक नालका कालूवेवे, वरिष्ठ संकाय और एनसीजीजी के पूर्व छात्रों के साथ बातचीत की एवं श्रीलंका प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के साथ अगली पीढ़ी के प्रशासनिक सुधारों को अपनाने के लिए सर्वोत्तम प्रथाओं को साझा किया।

उल्‍लेखनीय है कि नेशनल सेंटर फॉर गुड गवर्नेंस ने श्रीलंका के वरिष्ठ और मध्यम स्तर के अधिकारियों के लिए तीन क्षमता निर्माण प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए। 12 से 17 फरवरी, 2024 तक एनसीजीजी की पहली यात्रा के दौरान, चौदह वरिष्ठ श्रीलंकाई सिविल सेवकों के एक प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व प्रधानमंत्री के सचिव अनुरा दिसानायके ने किया था। अभी तक, एनसीजीजी ने श्रीलंका के कुल 95 सिविल सेवकों को प्रशिक्षित किया है। इस पहल से सुशासन के उच्‍चस्‍तर से लोकसेवकों की दक्षता पर व्‍यापक प्रभाव पड़ने की उम्‍मीद है।

इसके अलावा प्रतिनिधिमंडल ने जन्म, विवाह और मृत्यु प्रमाण पत्र सहित सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज जारी करने वाले रजिस्ट्रार डिवीजन के कामकाज का निरीक्षण करने के लिए कोलंबो जिला सचिवालय और थिंबिरिगासया डिवीजनल सचिवालय का भी दौरा किया। इस यात्रा में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ अनेक अनौपचारिक बातचीत भी शामिल रही, जिससे पारस्परिक द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने के संबंध में व्‍यापक अवसर उपलब्‍ध हुए।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 4866941
आखरी अपडेट: 15th Jul 2024