प्रतिक्रिया | Friday, June 14, 2024

बंगाल के चुनाव में टीएमसी अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही है : एक इंटरव्यू के दौरान प्रधानमंत्री मोदी

भाजपा के वरिष्ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक समाचार एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में लोकसभा चुनाव और कई अन्य अहम विषयों पर चर्चा की । चुनाव के आखिरी दौर और भाजपा के 400 पार के लक्ष्य को पार हो पाने के प्रश्न पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, आखिरी दौर शब्द में मुझे बहुत सी चीजे नजर आ रही हैं। हमारा एक नया दौर शुरू होगा। जो लोग बड़े सपने देख कर बड़े वादे कर रहे थे उनके लिए भी आखिरी दौर है। इंटरव्यू में बातचीत के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि हिंदुस्तान के सभी राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ हमारे संबंध अच्छे हीं हैं। लोकतंत्र में हमारी दुश्मनी नहीं होती है। उन्होंने कहा कि बंगाल के चुनाव में टीएमसी अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही है। पिछले विधानसभा चुनाव में हम 3 (विधायक) थे और बंगाल की जनता ने हमें 80 (विधायक) पर पहुंचा दिया। हमें पिछले चुनाव में भारी बहुमत मिला था। इस बार पूरे हिंदुस्तान में बेस्ट परफॉर्मिंग स्टेट कोई होगा तो पश्चिम बंगाल होने वाला है। भाजपा को सर्वाधिक सफलता पश्चिम बंगाल में मिल रहा है। वहां का चुनाव एक तरफा है। जनता उसकी अगुवाई कर रही है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आरोप ‘पीएम मोदी तय करते हैं कि कौन जेल जाएगा’ इस पर पीएम मोदी ने कहा, “बेहतर होगा कि ये लोग संविधान पढ़ लें, देश के कानून पढ़ लें, मुझे किसी को कुछ कहने की जरूरत नहीं है।”

इतना बड़ा फर्जीवाड़ा हो रहा है

चुनाव में आरक्षण के बड़ा मुद्दा बनने के प्रश्न के जवाब में पीएम मोदी ने कहा मैं एसटी, एससी, ओबीसी और अति पिछड़े भाई-बहनों को सचेत करन चाहता हूं, क्यूंकि इन लोगों को अंधरे में रखकर लूट चलाई जा रही है।

2010 के बाद पश्चिम बंगाल में जारी किए गए सभी ओबीसी (OBC) प्रमाणपत्रों को रद्द करने के कलकत्ता उच्च न्यायालय के फैसले पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि , उनके पास एक कार्यप्रणाली है। सबसे पहले, उन्होंने आंध्र प्रदेश में कानून बनाकर इसे अल्पसंख्यकों को देने का पाप शुरू किया, वे हार गए। सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट ने इसे खारिज कर दिया क्योंकि संविधान इसकी अनुमति नहीं देता है इसलिए उन्होंने चतुराई से पिछले दरवाजे से खेल शुरू किया और इन लोगों ने रातों-रात मुस्लिमों की सभी जातियों को ओबीसी बना दिया और ओबीसी से उनके अधिकार छीन लिए, जब हाई कोर्ट का फैसला आया तो साफ हो गया कि इतना बड़ा फर्जीवाड़ा हो रहा है लेकिन उससे भी ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण ये है कि वोट बैंक की राजनीति के लिए अब वो न्यायपालिका का भी दुरुपयोग कर रहे हैं। ये स्थिति किसी भी तरह से स्वीकार्य नहीं हो सकती।

बेहतर होगा कि ये लोग संविधान पढ़ लें

विपक्ष के इस आरोप पर कि पीएम मोदी आरक्षण खत्म कर देंगे, पीएम मोदी ने बताया, “उन्होंने ये पाप किया है। मैं उसके खिलाफ बोल रहा हूं और इसीलिए उन्हें झूठ बोलने के लिए ऐसी चीजों का सहारा लेना पड़ रहा है।” दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आरोप ‘पीएम मोदी तय करते हैं कि कौन जेल जाएगा’ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “बेहतर होगा कि ये लोग संविधान पढ़ लें, देश के कानून पढ़ लें, मुझे किसी को कुछ कहने की जरूरत नहीं है।”

कुछ दिन तकलीफ हुई लेकिन अच्छे काम के लिए हुई

कश्मीर में रिकॉर्ड वोटिंग पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया, “मैं चाहूंगा कि कश्मीर की जो स्थिति बदली है उसके संदर्भ में मैं सबसे पहले देश के न्यायतंत्र को प्रार्थना करना चाहता हूं। सरकार के काम करने की रणनीति होती है। उसके लिए कभी मुझे इंटरनेट बंद करना पड़ा, कोई एनजीओ (NGO) कोर्ट चला गया और कोर्ट में वे मुद्दा बन गया। भले मैंने कुछ समय के लिए इंटरनेट बंद किया था लेकिन आज वहां के बच्चे बहुत गर्व के साथ कहते हैं कि 5 साल से इंटरनेट बंद नहीं हुआ है। 5 साल से हमें सब सुविधाएं मिल रही हैं। कुछ दिन तकलीफ हुई लेकिन अच्छे काम के लिए हुई थी।

कश्मीर के लोगों में अपनेपन की भावना बढ़ रही है

कश्मीर में धारा 370 हटाने के फैसले पर प्रधानमंत्री मोदी ने बताया, “धारा 370 सिर्फ 4-5 परिवारों का एजेंडा था, ये न तो कश्मीर के लोगों का एजेंडा था और न ही देश के लोगों का एजेंडा था। अपने फायदे के लिए उन्होंने 370 की ऐसी दीवार बनाई थी और कहते थे कि 370 हटाओगे तो आग लग जाएगी।आज ये सच हो गया है कि 370 हटने के बाद और एकता का एहसास हो रहा है। कश्मीर के लोगों में अपनेपन की भावना बढ़ रही है और इसलिए इसका सीधा परिणाम चुनाव, पर्यटन में भी दिख रहा है।”

सभी राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ हमारे संबंध अच्छे

पीएम मोदी ने बताया, “हिंदुस्तान के सभी राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ हमारे संबंध अच्छे हीं हैं। लोकतंत्र में हमारी दुश्मनी नहीं होती है। अब सवाल ये हैं कि मैं मेरे संबंधों को संभालू या ओडिशा के भाग्य की चिंता करूं। तब मैंने रास्ता चुना की मैं ओडिशा के उज्जवल भविष्य के लिए अपने आप को खपा दूंगा। उसके लिए मेरे संबंधों की अगर मुझे बलि चढ़ानी पड़ेगी तो मैं तैयार हूं।”

ओडिशा का भाग्य बदलने वाला है

ओडिशा विधानसभा चुनाव पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ”25 साल से ओडिशा में प्रगति नहीं हो रही है। सबसे बड़ी चिंता इस बात की है कि कुछ ऐसे लोगों की टोली है जिसने पूरे ओडिशा की व्यवस्था पर कब्जा कर लिया है, ओडिशा अगर उन बंधनों से बाहर आएगा तो ओडिशा खिलेगा।” उन्होंने आगे कहा कि ओडिशा के पास इतने प्राकृतिक संसाधन हैं, इतने समृद्ध राज्य में गरीब लोगों को देखकर दुख होता है। ओडिशा भारत के समृद्ध राज्यों में से एक है। बहुत अधिक प्राकृतिक संपदा है और ओडिशा भी भारत के गरीब लोगों के राज्यों में से एक है, इसलिए ओडिशा के लोगों को उनका अधिकार मिलना चाहिए इसके लिए सरकार जिम्मेदार है। ओडिशा का भाग्य बदलने वाला है, ओडिशा की वर्तमान सरकार की एक्सपायरी डेट 4 जून है।”

टीएमसी अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही है

बातचीत में आगे पीएम मोदी ने कहा, “बंगाल के चुनाव में टीएमसी (TMC) अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही है। पिछले विधानसभा चुनाव में हम 3 (विधायक) थे और बंगाल की जनता ने हमें 80(विधायक) पर पहुंचा दिया। हमें पिछले चुनाव में भारी बहुमत मिला था। इस बार पूरे हिंदुस्तान में बेस्ट परफॉर्मिंग स्टेट कोई होगा तो पश्चिम बंगाल होने वाला है। भाजपा को सर्वाधिक सफलता पश्चिम बंगाल में मिल रहा है। वहां का चुनाव एक तरफा है। जनता उसकी अगुवाई कर रही है। टीएमसी के लोग बौखलाए हुए हैं लगातार हत्याएं हो रही हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं को चुनाव के पहले जेलों में बंद किया जा रहा है।”

जो वे कह रहे हैं, उसका सबूत क्या है ?

प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष के आरोप से जुड़ा सवाल हुआ, जिसमें कहा जाता है कि सरकार अपोजीशन को दबाने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है इस पर पीएम मोदी ने दो टूक जवाब दिया, उन्होंने कहा कि मेरा मीडिया से सवाल है कि विपक्ष ने आपको यह कूड़ा-कचरा पकड़ा दिया आप इसे लेकर हमारे पास पहुंच जाते हैं। जो वे (विपक्षी) कह रहे हैं, उसका सबूत क्या है? आपको यह उनसे पूछना चाहिए आप उनका कूड़ा-कचरा लेकर यहां आ जाते हैं।

 

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 3562238
आखरी अपडेट: 14th Jun 2024