प्रतिक्रिया | Friday, July 19, 2024

भारत ने म्यांमार को पहली बार एक करोड़ रुपये की दाल की निर्यात, दोनों देश के बीच रुपया-क्यात व्यापार तंत्र की शुरुआत

 

 

भारत दूसरे देश के साथ लगातार अपना व्यापार बढ़ाने के लिए प्रयासरत है। इसी क्रम में भारत और म्यांमार के बीच रुपया-क्यात व्यापार तंत्र की शुरुआत हो गई है। भारत ने रुपया-क्यात व्यापार समझौते के तहत म्यांमार को पहली बार एक करोड़ रुपये से अधिक की दालों का निर्यात किया है। ये कदम दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा देगा और स्थानीय मुद्राओं के उपयोग को बढ़ाएगा।

एक करोड़ रुपये से अधिक की दाल निर्यात
यंगून में भारतीय दूतावास ने मंगलवार को ‘एक्स’ पर पोस्ट जारी एक बयान में बताया कि रुपया-क्यात व्यापार समझौते की व्यवस्था अब चालू है। बयान में कहा गया है कि पंजाब नेशनल बैंक के यंगून कार्यालय ने आज एक करोड़ रुपये से अधिक की दाल निर्यात के पहले लेन-देन को सफलतापूर्वक पूरा किया। हम दोनों पक्षों के व्यवसायों को इस व्यवस्था से लाभ उठाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

समुद्री और सीमा व्यापार के लिए स्थानीय मुद्राओं में सीधे भुगतान
बता दें कि भारतीय दूतावास ने भारत-म्यांमार चैंबर ऑफ कॉमर्स (आईएमसीसी) के सहयोग से फरवरी में रुपया-क्यात व्यापार समझौते के उपयोग पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया था। इससे पहले म्यांमार के केंद्रीय बैंक ने 26 जनवरी, 2024 को स्पेशल रुपी वोस्ट्रो अकाउंट (एसआरवीए) के तहत भुगतान प्रक्रियाओं के लिए दिशा-निर्देश जारी किए थे। यह नया तंत्र समुद्री और सीमा व्यापार दोनों के लिए स्थानीय मुद्राओं में सीधे भुगतान करके वस्तुओं और सेवाओं के लिए लागू होगा।

कॉपीराइट © 2024 न्यूज़ ऑन एयर। सर्वाधिकार सुरक्षित
आगंतुकों: 5093645
आखरी अपडेट: 19th Jul 2024